October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पहले चरण के 71 सीटों पर चुनाव के लिए महागठबंधन तैयार

नई दिल्ली:- बिहार विधानसभा चुनाव के लिए 28 अक्टूबर को पहले चरण में राज्य की जिन 71 सीटों पर चुनाव होना है, वो महागठबंधन खासकर राजद और माले के लिए बेहद खास हैं। कांग्रेस ने भी पिछले चुनाव में यहां आठ सीटों पर जीत हासिल की थी। सीटों की संख्या का बंटवारा तो हो गया मगर अभी कौन सीट किसके पास रहेगी, इस पर शनिवार को देर रात तक मंथन का सिलसिला जारी रहा। हालांकि माले की सीटों को लेकर तस्वीर साफ हो चुकी है। फिलहाल जो खाका सामने आ रहा है, उसके हिसाब से राजद यहां करीब 40, कांग्रेस करीब 19-20, माले लगभग नौ सीट पर चुनाव लड़ेगी। बाकी पर सीपीआई लड़ेगी। पहले चरण में जिन 16 जिलों की 71 सीटों पर चुनाव होना है, उसमें पिछले चुनाव में महागठबंधन ने शानदार प्रदर्शन किया था। राजद ने यहां 25, जदयू ने 21, कांग्रेस ने आठ सीटें जीती थीं। वहीं भाजपा को 14 सीटें मिली थीं। हम, सीपीआई और निर्दलीय भी एक-एक सीट जीते थे। इस बार का गणित अलग है। जदयू अब एनडीए में शामिल है। ऐसे में राजद ने इस बार अपनी सीटों की संख्या पहले से बढ़ा दी है। हालांकि उसकी कई जीती हुई सीटें इस बार गठबंधन में माले के खाते में चली गई हैं। कांग्रेस ने 2015 में पहले चरण की सीटों में से 13 पर चुनाव लड़ा था। इस बार उसकी कई सीटें बढ़ने जा रही हैं। पहले चरण की सीटों की बात करें तो कई सीटों पर इस बार न पुराने दल होंगे और न ही लड़ाके। गठबंधन में कई सीटें दूसरे दलों के खाते में चली गई हैं। इसमें राजद की आरा, अरवल, पालीगंज, डुमरांव, काराकाट सीटें अब माले के पास हैं। इसके अलावा अंगिआव सुरक्षित घोषी पर भी लड़ेगा। वहीं कांग्रेस की तरारी सीट भी माले के खाते में गई है। माले अपने कोटे की सीटों पर प्रत्याशियों के नाम पर अंतिम मुहर लगा देगा। वहीं जिन सीटों पर कोई विवाद नहीं है, वहां राजद भी अपने प्रत्याशियों को हरी झंडी दे चुका है।

Recent Posts

%d bloggers like this: