October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

तत्कालीन गृह सचिव ने आगाह किया था कि यूपी सरकार बाबरी को बचाने का वादा पूरा नहीं करेगी : पवार

पुणे:- अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने को लेकर विशेष सीबीआई कोर्ट का निर्णय आ चुका है। सभी आरोपी बरी किए जा चुके हैं पर राजनेताओं के बयान बंद नहीं हो रहे हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने कहा कि बाबरी मस्जिद को ढहाए जाने से पहले तत्कालीन केंद्रीय गृह सचिव ने चेतावनी दी थी कि उत्तर प्रदेश सरकार उसकी रक्षा करने के अपने वादे को पूरा नहीं करेगी। दिसंबर 1992 में जब कारसेवकों ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाई थी तब पवार प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के मंत्रिमंडल में थे। इसी सप्ताह एक सीबीआई अदालत ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में वरिष्ठ भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी समेत 32 लोगों को बरी कर दिया। इस संबंध में जब पवार से यहां संवाददाताओं ने सवाल किया तब उन्होंने कहा कि तत्कालीन केंद्रीय गृह सचिव माधव गोडबोले ने सूचना दी थी कि कल्याण सिंह के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार विवादित ढांचे की रक्षा करने के अपने वादे को पूरा नहीं करेगी। एनसीपी नेता ने दावा किया, ‘लेकिन प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव की राय थी कि केंद्र को राज्य के मुख्यमंत्री पर भरोसा करना चाहिए। दुर्भाग्य से गोडबोले की राय पर गौर नहीं किया गया और जिसका उन्होंने अंदेशा प्रकट किया था, वही हुआ।’ पवार ने यह भी कहा कि काशी और मथुरा में इसी तरह के विवादित स्थलों पर मंदिरों के निर्माण की मांग सामाजिक सौहार्द्र की दृष्टि से चिंताजनक है।

Recent Posts

%d bloggers like this: