October 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

साध्वी निरंजन ज्योति बोलीं- परिजन को सौंपना चाहिए था पीड़िता का शव

अपने ही लोगों के बयानों से मुश्किल में पड़ी योगी सरकार

हमीरपुर:- उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के लिए हाथरस कांड अपने ही पार्टी के कुछ लोगों के बयान से मुश्किल में पड़ गई है। योगी सरकार पर उनकी ही पार्टी के अंदर से निशाना साधा जा रहा है। बीते दिनों भाजपा विधायक के राज्यपाल को पत्र लिखे जाने के बाद शुक्रवार को केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के बयान ने भी योगी सरकार को मुश्किल में डाल दिया है। निरंजन ज्योति ने पीड़िता के शव को परिजन को न देने पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि वह इसे अच्छा नहीं मानती हैं। केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि युवती के शव को परिजन को न सौंपे जाने को मैं अच्छा नहीं मानतीं। शव परिजन को दिया जाना चाहिए था। निरंजन ज्योति के अलावा भाजपा के सहयोगी दल भी मामले को लेकर असहज हैं। बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने वाले हैं। ऐसी उम्मीद है कि अठावले दलित युवती के साथ गैंगरेप और उसकी हत्या मामले को लेकर सीएम से बात कर सकते हैं।
मालूम हो कि हाथरस मामले को लेकर यूपी में सियासी बवाल जारी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी को हिरासत में लिए जाने के बाद शुक्रवार को टीएमसी ने भी हाथरस पहुंचने की कोशिश की। हालांकि, नेताओं को रास्ते में ही रोक लिया गया। उधर, मामले के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर लाठियां भाजीं। पीड़िता के गांव को पुलिस ने सील कर दिया है। मीडिया और राजनीतिक दलों के नेताओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। गौरतलब है कि दो दिनों से चल रहे हाईवोल्टेज बवाल के बाद शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने मामले पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वाले लोगों को ऐसा दंड दिया जाएगा कि उनका समूल नाश हो जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: