October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ओडीएफ दर्जा प्राप्त कर लेने से ज़्यादा जरूरी इसेे बनाये रखना है-बन्ना गुप्ता

स्वच्छता साक्षरता अभियान की शुरूआत

रांची:- नाबार्ड झारखंड क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा आज स्वच्छता साक्षरता अभियान शुरू किया गया था। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।
मंत्री ने अपने संबोधन में यह बताते हुए खुशी जताई कि यह अभियान नाबार्ड द्वारा झारखंड के 100 गांवों में शुरू किया जाएगा। उन्होने नाबार्ड द्वारा और प्रचार प्रसार के लिए अभिनव आईईसी (सूचना शिक्षा और संचार सामग्री) के माध्यम से कार्यक्रम प्रसारित किए जाने की सराहना की। एक विकासात्मक राज्य होने के बावजूद, झारखंड ने वर्ष 2018 में अपने स्थापना दिवस (15 नवंबर) के शुभ अवसर पर ओडीएफ दर्जा प्राप्त किया था। मंत्री ने ये भी कहा कि ओडीएफ दर्जा प्राप्त कर लेने से ज़्यादा जरूरी है इस ओडीएफ दर्जे को बनाये रखना। गुप्ता ने नाबार्ड को बधाई दी और कहा कि इन प्रयासों से झारखंड में लैंगिक समानता, सतत विकास लक्ष्य सहित संरक्षण और स्वच्छ पानी एवं समग्र स्वच्छता का कवरेज हो पाएगा । नाबार्ड स्वच्छता साक्षारता अभियान एक सफल कार्यक्रम होगा और यह झारखंड के ग्रामीण समुदाय को एक नई दिशा देगा। इस मौके पर नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक आशीष कुमार पाढ़ी, ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया और बताया कि स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) के तहत, नाबार्ड ने 3.29 करोड़ घरेलू शौचालय के निर्माण में सक्रिय रूप से रु12,298 करोड़ संवितरण कर भाग लिया है। इस प्रयास के परिणामस्वरूप भारत को ओडीएफ घोषित किया गया है और अब यह ओडीएफ प्लस के अगले चरण में चला गया है जहां मिशन उद्देश्य की निरंतरता प्रमुख है। कोविद -19 महामारी ने स्वच्छता बनाए रखने की आवश्यकता पर जोर दिया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: