October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार चुनाव में सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर कड़ी नजर रखेगा आयोग, गड़बड़ी पर होगी सख्त कार्रवाई

पटना:- बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी की समीक्षा के लिए प्रदेश आए मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) सुनील अरोड़ा बृहस्पतिवार को कहा कि चुनाव के दौरान किसी सोशल मीडिया पोस्ट से सांप्रदायिक और जातिगत हिंसा को बढ़ावा दिए जाने की प्रमाणिक रिपोर्ट मिलती है, तो आयोग सख्त कार्रवाई करेगा।
अरोड़ा ने कहा आयोग कोविड-19 महामारी के दौरान स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण, पारदर्शी और सुरक्षित मतदान कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा हमने पहले ही बातचीत में यह स्पष्ट कर दिया है कि हम चाहते हैं कि सोशल मीडिया आयोग के साथ सहयोग करे। अगर हमें किसी भी स्रोत से चाहे वह मीडिया हो या कोई व्यक्ति, क़ोई शरारत करता है, उसकी रिपोर्ट से सांप्रदायिक और जातिगत हिंसा को बढ़ावा मिल सकता है, तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा समीक्षा बैठक के दौरान राजनीतिक दलों ने भी सोशल मीडिया के दुरुपयोग को लेकर चिंता जताई है।
बिहार के तीन दिवसीय दौरे पर आई निर्वाचन आयोग की सात सदस्यीय टीम का नेतृत्व करने वाले अरोड़ा ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के बाद पटना में पत्रकारों से भी बात की थी। यात्रा के दौरान, आयोग की टीम ने राजनीतिक दलों के शिष्टमंडलों के साथ मुलाकात करने के साथ प्रदेश के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के अलावा राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के साथ बैठक कर महामारी के बीच चुनाव से संबंधित तैयारियों की समीक्षा की।
उल्लेखनीय है कि बिहार में तीन चरणों में वोट डाले जाएंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने तारीखों का ऐलान करते हुए कहा था कि बिहार में चुनाव 3 चरण में होगा। पहला चरण 28 अक्टूबर को 71 विधानसभा सीट के लिए कराया जाएगा। वहीं, दूसरा चरण 03 नवंबर को 94 विधानसभा सीट और तीसरा चरण 07 नवंबर को 78 विधानसभा सीट के लिए चुनाव होगा। जिसके बाद 10 नवंबर को मतगणना की तारीख तय की गयी है। चुनाव तिथियों का ऐलान होने के साथ ही प्रदेश में आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई है।

Recent Posts

%d bloggers like this: