October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बापू निशानी फोर्ड पर बैठक कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे

रांची:- राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर आज रांची स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी। बापू-शास्त्री की जयंती के मौके पर वह फोर्ड कार को भी कांग्रेस मुख्यालय लाया गया, जिस कार पर सवार होकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 1940 में कांग्रेस के रामगढ़ अधिवेशन में शामिल होने के लिए गये थे। इस अधिवेशन में शामिल होने पहुंचे बापू कुछ देर के लिए रांची स्थित राय साहेब लक्ष्मी नारायण जी के आवास पर स्थित बापू कुटीर में भी कुछ देर विश्राम करने के लिए रूके थे और फिर उनके फोर्ड कार से पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के साथ रामगढ़ अधिवेशन में भाग लेने पहुंचे थे। इस फोर्ड कार को झारखंड प्रोफेशनल कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जायसवाल आज भी संभाल कर सुरक्षित रखे हुए है। वे आज इसी कार से कांग्रेस कार्यालय पहुंचे और फिर कांग्रेस भवन से पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सह मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव, कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव, डा राजेश गुप्ता छोटू के साथ मोरहाबादी स्थित बापू वाटिका पहुंच कर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके पूर्व कांग्रेस भवन.में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में दिवंगत महान नेताओं को पुष्प अर्पित करने के उपरांत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव ने राष्ट्रपिता को नमन करते हुए कहा कि जिन्हें राष्ट्र आज महात्मा गांधी के नाम से जानता है, वह भारत और भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। वे सत्याग्रह के माध्यम से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे, उनकी इस अवधारणा की नींव संपूर्ण अहिंसा के सिद्धांत पर रखी थी, जिन्होंने भारत को आजादी दिलाकर पूरी दुनिया में जनता के नागरिक अधिकारों एवं स्वतंत्रता के प्रति आंदोलन के लिए प्रेरित किया, उन्हें दुनिया में आम जनता महात्का गांधी के नाम से जानती है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनकी सादगी और दृढ़ इच्छाशक्ति ने भारत को दुनिया में अलग पहचान दिलायी। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश ने कहा कि बापू ने भारत को आजादी दिलाकर पूरी दुनिया में जनता के नागरिक अधिकारों और स्वतंत्रता के प्रति आंदोलन के लिए प्रेरित किया। हमें गांधी जी के विचारों को आगे बढ़ाना है और आत्मसात करके आगे बढ़ना है। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस ने 6 जुलाई 1944 को रंगून रेडियो से गांधीजी के नाम जारी प्रसारण में उन्हें राष्ट्रपिता कहकर संबोधित करते हुए आजाद हिन्द फौज के सैनिकों के लिए उनका आशीर्वाद और शुभकामनाएं मांगी थी। उन्होंने कहा कि शास्त्री जी के जीवन की सादगी देश के हर नेता के लिए उदाहरण रही। उनकी जिन्दगी से जुड़े कई ऐसे किस्से हैं, जिससे इस बात का पता चलता है कि वे देश के सर्वाच्च लोकतांत्रिक पदों में से एक पर बैठे हुए भी कितने सरल थे। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता लाल किशोर नाथ शाहदेव ने कहा कि गांधी ने प्रवासी वकील के रूप में दक्षिण अफ्रीका में भारतीय समुदाय के लोगों के नागरिक अधिकारों के लिए संघर्ष के लिए सत्याग्रह करना शुरू किया और 1915 में उनकी भारत वापसी हुई। उसके बाद उन्होंने यहां के किसानों, मजदूरों और शहरी श्रमिकों को अत्यधिक भूमि कर और भेदभाव के विरूद्ध आवाज उठाने के लिए एकजुट किया। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डा राजेश गुप्ता छोटू ने कहा 1921 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की बागडोर संभालने के बाद उन्होंने देशभर में गरीबी से राहत दिलाने,महिलाओं के अधिकारों का विस्तार, धार्मिक और जातीय एकता निर्माण तथा आत्मनिर्भरता के लिए अस्पृश्यता के विरोध में अनेक कार्यक्रम चलाये। प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जयसवाल ने कहा कि मुझे इस बात की बेहद खुशी है मैं उस परिवार में जन्म लिया हूँ जहां गांधी के चरण पड़े और जिनकी कुटिया आज भी सुरक्षित है जो देश भक्ति की प्रेरणा देता है,उनकी विचारधारा हमारे अंतरंग में समाहित है। कांग्रेस भवन में श्रद्धांजलि के उपरांत फोर्ड गाड़ी जिसपर गांधी जी ने यात्रा की थी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव के साथ केशव महतो कमलेश, आलोक कुमार दूबे,लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं डॉ राजेश गुप्ता छोटू सवार होकर जिसे स्वंय प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष आदित्य कुमार जायसवाल ड्राइव कर रहे थे, शहर में नारेबाजी करते हुए राष्ट्रपिता बापू अमर रहे,’ जब तक सूरज चांद रहेगा बापू तेरा नाम रहेगा ,जय जवान जय किसान’, लाल बहादुर शास्त्री अमर रहे के नारे लगाते हुए शहर के विभिन्न मार्गो से गुजर कर बापू वाटिका पहुंचे,जहाँ कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपिता बापू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया एवं भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि अरपित करने के उपरांत मीडिया कर्मियों से बात करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमिटी अध्यक्ष डा रामेश्वर उरांव ने कहा यह देश गांधी जी के नाम से जाना जाता है,किसी को उनके बारे में बताने की जरूरत नहीं है, देश को गुलामी की जंजीरों से आजादी दिलाई।गांधी जी सर्वोच्च नेता थे ,सामाजिक नेता थे, समाज सुधारक थे, दार्शनिक थे,जिन्होंने आजादी दिलाई।आजादी को कायम रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। आजादी तभी मजबूत होगा जब हम लोकतंत्र को आगे बढ़ाएंगे। छुआछूत, जाति पाति ,महिलाओं को समानता का अधिकार यह सब गांधी जी के काम थे। डा उराँव ने कहा कांग्रेस पार्टी का यह कर्तव्य है कि जो काम उन्होंने शुरू किया हम उस को आगे बढ़ाएं। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पुछे गये प्रशन पर डा उराँव ने कहा कांग्रेस ने समानता का अधिकार दिया, पंचायती राज में 50 प्रतिशत आरक्षण महिलाओं को दिया गया, यहां तक कि पुलिस में भी महिलाओं को कांग्रेस ने अवसर दिया,सेना में भी उनकी बहाली शुरू हो गई है धीरे-धीरे ही सही आगे बढ़ाए जाने का काम हमें करना है। सरकार के साथ-साथ समाज की भी यह जिम्मेदारी है कि हर माता-पिता अपने बच्चों को ऐसी शिक्षा दें कि वह महिलाओं को मां और बहन के रूप में समझे। आज अगर महिलाएं स्वाबलंबी है तो गांधीजी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है, स्त्री और पुरुष में असमानता दूर किया, बापू एक व्यवहारिक व्यक्ति थे, बापू शुरू से हमारे आदर्श रहे हैं उन्हीं को सामने रखकर हम कोई भी अपना अच्छा कार्य योजनाएं शुरू करते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राहुल गांधी को धक्का दिए जाने के सवाल पर रामेश्वर उराँव ने कहा यह उसी प्रकार का कृत्य है जिस प्रकार दक्षिण अफ्रीका में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को ट्रेन से धक्का दे दिया गया था, लोकतंत्र की हत्या हुई है जिसे देश ने देखा है। पत्रकारों से बात करने के उपरांत देशव्यापी कृषि कानून के खिलाफ जिला मुख्यालयों में आयोजित धरना कार्यक्रम में रांची महानगर कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सहित सभी पदाधिकारियों ने शिरकत की।
कांग्रेस भवन में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष संजय लाल पासवान, मानस सिन्हा, रमा खलखो, डाॅ जय प्रकाश गुप्ता, प्रदीप तुलस्यान, शमशेर आलम, गुंजन सिंह, अमूल्य निरज खलखो, फिरोज रिज्वी मुन्ना, जितेन्द्र त्रिवेदी, देवजीत देवघरिया, अरूण श्रीवास्तव, ज्योति सिन्हा, केके गिरी, रामाश्रय प्रसाद, विनोद तिवारी, पिंकी सिंह, संगीता टोप्पो, सीमा साहु, संजय तिवारी, दिनेश लाल सिन्हा, अमरजीत सिंह, राहुल राय, राजीव चैरसिया, रामानंद केशरी आदि उपस्थित थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: