October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

एलओसी पर युद्ध जैसी स्थिति, हाई अलर्ट घोषित

HS-17-1-390x220

सीमापार गोलीबारी से 18 घंटे में भारत के 4 जवान शहीद, 8 गंभीर घायभारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के 20 से अधिक सैनिक मारे गए पिन पॉइंट के सटीक हमले से पाकिस्तान की 12 चौकियां भी हुईं तबाह पाकिस्तान और भारतीय वायुसेना के फाइटर जेट्स की भी हलचल बढ़ी

नई दिल्ली:- एलओसी पर पिछले 18 घंटे से पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी होने से तनाव के हालात बने हुए हैं। एलओसी से सटे हुए इलाकों में पाकिस्तानी गोलाबारी के बाद 4 भारतीय जवान शहीद हुए हैं जबकि 8 घायल हैं। भारत ने भी पीओके के 30 किमी. अन्दर जवाबी कार्रवाई की है जिसमें पाकिस्तान के 20 से अधिक सैनिक मारे गए हैं और दर्जनों घायल हैं। पिन पॉइंट की सटीकता के साथ भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तान की 12 चौकियां भी तबाह हुई हैं। दोनों ओर से अभी भी लगातार फायरिंग होने से नियंत्रण रेखा पर युद्ध जैसी स्थिति है। इसके बाद सीमा पर हाई अलर्ट घोषित किया गया है। रात होने के बाद सीमा पर पाकिस्तान और भारतीय वायुसेना के फाइटर जेट्स की भी हलचल बढ़ी है।पाकिस्तान की नियंत्रण रेखा पर बुधवार की रात सीमा पार से शुरू हुई फायरिंग अभी भी चल रही है। पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में बुधवार देर रात को भारी गोलीबारी की। इस गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया है। इस दौरान कृष्णा घाटी में लांस नायक करनैल सिंह शहीद हो गए। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने शहीद के परिवार को सरकारी नौकरी और 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। मनकोट सेक्टर, पुंछ में पाकिस्तान की गोलाबारी में राइफलमैन वीरेंद्र सिंह घायल हो गए। उनकी दाहिनी आंख में चोट लगी है। पाकिस्तान ने आज दोपहर बाद कुपवाड़ा जिले के केरन और माछल सेक्टरों में नियंत्रण रेखा के पास मोर्टार और अन्य हथियारों से गोलीबारी की। पाकिस्तान ने एलओसी से सटे नौगाम और केजी सेक्टर में भी गोले बरसाए जिससे सीमा से सटे इलाकों में तनाव है। इस वजह से नियंत्रण रेखा से सटे तमाम रिहाइशी इलाकों में ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट भी किया गया है। नियंत्रण रेखा पर गुरुवार को हुई गोलाबारी में भारतीय सेना के 3 जवान शहीद हो गए जबकि 8 जवान घायल हुए हैं। आज नौगाम सेक्टर, कुपवाड़ा में एलओसी पर पाक फायरिंग में शहीद होने वालों में भारतीय सेना के जवान तहसील सुचेतगढ़, आरएस पुरा निवासी शुभम शर्मा भी हैं। 18 घंटे में 4 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने तगड़ी जवाबी कार्रवाई की। वैसे तो पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में मंगलवार को भी भारतीय सेना ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया था। इसमें पाकिस्तानी सेना का एक कैप्टन समेत तीन सैनिक मारे और छह घायल हो गए थे। इस दौरान उनकी चार चौकियां पूरी तरह तबाह हो गई थी। गुरुवार शाम को भारतीय सेना ने पीओके की लीपा वैली में आतंकवादी लॉन्चपैड पर लक्षित निशाना साधा जिसमें पाकिस्तानी सेना के 1 मेजर समेत 20 से अधिक सैनिकों के मारे जाने की खबर है। हताहतों की संख्या 20 से अधिक हो सकती है क्योंकि लक्षित निशाने पर 100 से अधिक जवानों की भीड़ थी। पीओके के 30 किमी. अंदर पिन पॉइंट की सटीकता के साथ की गई भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तान की 12 चौकियां भी तबाह हुई हैं। दोनों ओर से अभी भी लगातार फायरिंग होने से नियंत्रण रेखा पर युद्ध जैसी स्थिति है। इसके बाद सीमा पर हाई अलर्ट घोषित किया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: