October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच संघर्ष में रहवासी क्षेत्रों में मिसाइलों के धमाके

अजरबैजान:- आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच छिड़े संघर्ष से हालात बेहद खराब हो गए हैं। रविवार को तनाव काफी बढ़ गया। दोनों एक-दूसरे पर नागोर्नो काराबाख में लाइन ऑफ कॉन्टैक्ट पर आक्रामक ऐक्शन के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। इसी बीच आर्मीनिया के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि नागोर्नो-काराबाख के सुरक्षाबलों ने अजरबैजान के एक प्लेन और एक हेलिकॉप्टर को गिरा दिया है। सेनाओं के दावों के बीच प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए धमाके, विस्फोट और गोलीबारी किसी बुरे सपने की तरह जारी हैं। आर्मीनिया के एयरडिफेंस ने काराबाख में विवादित क्षेत्र के दक्षिण और दक्षिण-पूर्व में प्लेन और हेलिकॉप्टर को गिरा दिया। यह जानकारी आर्मीनिया के रक्षा मंत्रालय की प्रेस सचिव शूशान स्तपनयान ने फेसबुक के जरिए दी। उन्होंने दावा किया कि हेलिकॉप्टर काराबाख सैन्य बल के नियंत्रण वाले क्षेत्र में आ गिरा। इससे पहले काराबाख रक्षा मंत्रालय ने फेसबुक पर दावा किया था कि अजरबैजान के सैन्य हेलिकॉप्टर को ईरान में वाराजटुंब के पास गिरा दिया गया है। अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने इस दावे को खारिज किया है। अजरबैजान की सेना ने बुधवार को ऐलान किया था कि उसने आर्मीनिया का एक एस-300 मिसाइल सिस्टम नागोर्नो-काराबाख में उड़ा दिया। उसने यह भी दावा किया कि करीब 2,700 सैनिक अब तक इस जंग में या तो घायल हो गए हैं या जान गंवा चुके हैं। इससे पहले देश के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया था कि उसने आर्मीनिया के रेजिमेंट को जंग के दौरान पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया था। वहीं, आर्मीनिया ने इस दावे को फर्जी बताया है। दूसरी ओर आर्मीनिया की सरकार ने दावा किया था कि उसके एक सुखोई-25 विमान को तुर्की के F-16 विमानों ने मार गिराया है। तुर्की और अजरबैजान दोनों ने इस आरोप का खंडन किया था लेकिन अब आर्मीनिया ने अपने दुर्घटनाग्रस्‍त विमान की तस्‍वीर जारी कर दी है। आर्मीनिया ने आरोप लगाया है कि अजरबैजान तुर्की के एयरफोर्स के एफ-16 व‍िमानों और ड्रोन का इस्‍तेमाल करके हमले कर रहा है। ज्ञात हो कि तुर्की के अजरबैजान के साथ अच्छे संबंध हैं, वहीं रूस के आर्मेनिया के साथ अच्छे संबंध हैं। माना यह भी जाता है कि अजरबैजान के साथ भी रूस के रिश्ते अच्छे हैं। नागोर्नो-काराबाख को लेकर जारी जंग में अबतक 100 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है और सैंकड़ों लोग घायल हैं। उधर, जैसे-जैसे यह जंग तेज होती जा रही है, वैसे-वैसे रूस और नाटो देश तुर्की के इसमें कूदने का खतरा मंडराने लगा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: