October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गांधीजी की निशानियों को आज भी रखा है संभाल कर

रांची:- रांची के एक परिवार ने गांधी जी की उन निशानियों को आज भी बड़े ही प्यार से संभाल के रखा हुआ है। राजधानी रांची के लालपुर चौक के निकट स्थित राय साहेब लक्ष्मी नारायण जायसवाल के परिवार ने आज भी उस कार को बड़े ही जतन से संभाल के रखा हुआ है, जिसपर 1940 मे रांची से सवार होकर गांधीजी रामगढ़ अधिवेशन गए थे। यही नहीं, उस दौरान गांधी कुटीर के नाम से विख्यात इस स्थान पर बापूजी ने कई घंटे बिताए भी थे । गांधीजी के रांची पहुँचने पर तब राय साहब लक्ष्मी नारायण ने उनकी मेहमाननवाजी की थी और खुद फोर्ड की 1927 मॉडल फोरसीटर कन्वर्टिबल कार को ड्राइव करते हुए उन्हें रामगढ़ लेकर गए थे। आज रायसाहब के परपोते आदित्य विक्रम जायसवाल को गांधी जी से जुड़े इस धरोहर की देखभाल मे साक्षात बापू की सेवा जैसा ही आनंद मिलता है। आज इस गांधी कुटीर मे और इस कार के नजदीक आकर लोग खुद को भाग्यशाली समझते हैं और उन्हें यहाँ बापूजी के दर्शन जैसा ही सुख और सुकून मिलता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: