October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार विस चुनाव: दिखेगी नए गठबंधनों की जमात, रालोसपा बनी अगुआ, कई दलों से बातचीत

पटना:- बिहार विधानसभा चुनाव के ऐलान के बाद सत्ता के रण में इस बार कई गठबंधनों की जमात देखने को मिलेंगी। सभी गठबंधन अपने आकार को बड़ा करने में भी जुट गए हैं। राजद नेतृत्व वाले महागठबंधन को छोड़कर निकली राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ चुनावी मैदान में उतरने की घोषणा की है और अब उसकी नजर गठबंधन के आकार को बढ़ाने की है। सूत्रों का दावा है कि रालोसपा के नेताओं की राष्ट्रीय जन-जन पार्टी (राजजपा) के नेताओं के साथ गठबंधन में आने की बात अंतिम दौर में पहुंच गई है।
राजजपा का भूमिहार और ब्राह्मणों पर अच्छी पकड़ मानी जाती है। माना जाता है कि बिहार के मगध प्रमंडल सहित कई इलाके में राजजपा का अपना वोट बैंक है। राजजपा के प्रमुख आशुतोष कुमार हालांकि किसी गठबंधन के साथ जाने को लेकर अभी कुछ स्पष्ट नहीं कहते हैं, लेकिन इतना जरूर कहा कि इस चुनाव में जात-पात को भूलकर बिहार के विकास की बात की जानी चाहिए। इधर, रालोसपा के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा भी एक दिन पहले अचानक दिल्ली चले गए हैं। कहा जा रहा है कि वे कांग्रेस के कुछ नेताओं के साथ भी संपर्क में हैं और साथ मिलकर चुनाव लड़ने को लेकर बात हुई है। हालांकि इसकी पुष्टि कोई नहीं कर रहा है।
इधर, रालोसपा के प्रवक्ता भोला शर्मा कहते हैं कि गठबंधन के आकार को बड़ा करने को लेकर कई दलों के नेताओं से बात चल रही है। उन्होंने कहा कि सत्ता और मुख्य विपक्ष को लेकर यह गठबंधन लोगों को विकल्प देने की तैयारी में है। उल्लेखनीय है कि 29 सितंबर को रालोसपा ने महागठबंधन से अलग होकर बहुजन समाज पार्टी के साथ एक गठबंधन बनाने की घोषणा की। इस गठबंधन में जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) भी शामिल है।

Recent Posts

%d bloggers like this: