October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

शिक्षा मंत्री को बेहतर इलाज के लिए रिम्स से मेडिका में किया गया शिफ्ट

रांची:- राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो को रिम्स से रांची भगवान महावीर मेडिका सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (मेडिका) में गुरुवार को शिफ्ट किया गया। सूत्रों के अनुसार जगरनाथ महतो की हालत में कोई सुधार होता नहीं देख उन्हें मेडिका में शिफ्ट करने का निर्णय लिया गया । उनकी स्थिति नाजुक बताई जा रही है। उल्लेखनीय है कि शिक्षामंत्री का इलाज कर रहे डॉ नीशित एक्का ने बताया था कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को सीवियर कोविड (कोरोना की गंभीर स्थिति) है। उन्हें हाई ऑक्सीजन लेवल पर रखा गया है। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने एयरलिफ्ट करने की सलाह दी थी। लेकिन उनके परिजन स्थिति को देखते हुए एयरलिफ्ट के लिए तैयार नहीं हुए थे। डॉक्टरों ने बताया था कि शिक्षामंत्री को कोरोना का खतरा गंभीर रूप से बना हुआ है। ऐसे में एयरलिफ्ट करने में दिक्कत हो सकती है। हाई ऑक्सीजन लेवल की समस्या एयरलिफ्ट के दौरान होने की पूरी संभावना है। गौरतलब है कि झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बीते सोमवार सुबह उनकी तबीयत बिगड़ने पर उन्हें बोकारो जिले स्थित पैतृक आवास से एंबुलेंस के सहयोग से रांची लाकर रिम्स के कोविड -19 वार्ड में भर्ती कराया गया था। सर्दी, जुकाम, बुखार और बदन दर्द के कारण शिक्षा मंत्री को सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही थी। उनकी कोरोना जांच कराई गई और रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तत्काल 108 नंबर एंबुलेंस को सूचना दी गई और मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें तुरंत रिम्स में भर्ती करने का निर्णय लिया था। मालूम हो कि आईसीएमआर और डब्ल्यूएचओ ने कोरोना के इलाज के लिए हाई रिजोल्यूशन सिटी स्कैन (एचआरसीटी ) को सबसे जरूरी बताया था। यह निर्देश 40 से अधिक उम्र के मध्यम लक्षण और उससे अधिक लक्षण वाले मरीज के लिए जारी किया गया था। इससे यह पता लग सकेगा कि इस वायरस ने मरीज के लंग्स को कितना प्रभावित किया है। लेकिन राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में यह मशीन उपलब्ध नहीं है।

Recent Posts

%d bloggers like this: