October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

एनडीए ने तेजस्वी की नेतृत्व क्षमता पर उठाए सवाल, जेडीयू ने कहा 8वीं पास

नीतीश कुमार ने काम करके दिखाया पर तेजस्वी के पास ना तो डिग्री है न अनुभव

पटना:- बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले महागठबंधन में फूट लगातार जारी है। जीतन राम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा के साथ छोड़ने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी के नेतृत्व पर सवाल खड़े होने लगे हैं। इस कड़ी में एनडीए ने तेजस्वी यादव के नेतृत्व पर सवाल खड़े किए हैं। जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने तेजस्वी की तुलना नीतीश से करते हुए कहा कि एक तरफ इंजीनियर उम्मीदवार है जबकि दूसरी तरफ आठवीं पास। नीतीश कुमार ने काम करके दुनिया को दिखाया है पर तेजस्वी के पास ना तो डिग्री है और न ही अनुभव। तेजस्वी नादानी और अहंकारी दोनों अपने ऊपर हावी होने का सबूत दे रहे हैं। उनके नेतृत्व पर पार्टी के कार्यकर्ताओं को ही भरोसा नहीं है, यही कारण है कि आरजेडी के कार्यकर्ता और नेता सभी भाग रहे हैं। राजीव रंजन ने कहा कि सभी को लगता है कि आरजेडी की सरकार बिहार में नहीं बनेगी। बिहार में चुनावी लड़ाई शुरू होने से पहले ही आरजेडी की हार तय हो गई है। एनडीए के दूसरे बड़े दल बीजेपी के प्रवक्ता और नेता प्रिय रंजन पटेल ने कहा कि तेजस्वी की अनुभवहीनता पार्टी को ले डूबेगी। उनके कारनामों से गठबंधन भी रोजाना छोटा हो रहा है और अब खत्म होने के कगार पर आ गया है। प्रेम रंजन ने कहा कि पार्टी के लोग राजद को छोड़कर भाग रहे हैं। तेजस्वी संगठन और पार्टी दोनों को संभालने में नाकामयाब दिख रहे हैं। पार्टी के सबसे बड़े चुनावी चेहरे तेजस्वी यादव के बचाव में राजद खड़ा हो गया है। पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने तेजस्वी का बचाव करते हुए हुए कहा कि तेजस्वी के नेतृत्व में सरकार बनना तय है।

Recent Posts

%d bloggers like this: