October 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पंजाब में किसानों का बड़ा प्रदर्शन, रेल रोको आंदोलन शुरू, शहरों में जगह-जगह जाम

नई दिल्ली:- किसान बिल का विरोध कर रहे पंजाब में किसान आज से दोबारा रेल ट्रैकों पर जमे हुए हैं। उनके धरना-प्रदर्शन से राज्‍य में ट्रेनों का आवागमन ठप हो चुका है तथा इससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। राज्‍य में आज से किसानों ने अनिश्चितकालीन रेल रोकोआंदोलन प्रारम्भ किया है। आज सवेरे से ही किसान रेल ट्रैकों पर जम गए हैं। अन्य तरफ, कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल तथा आम आदमी पार्टी के नेता व कार्यकर्ता भी केिसानाें के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं। बता दें कि अमृतसर के जंडियाला गुरु क्षेत्र के गांव देवीदासपुरा में किसानों के जरिए रेलवे ट्रैक पर लगातार दिए जा रहा धरना आज आठवें दिन भी जारी है। आज किसानों ने अंबानी तथा अडानी कॉरपोरेट घरानों का पुतला जलाया एवं भारत सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर के मुताबिक, सभी लोगों को चाहिए कि वे कॉरपोरेट घरानों का बहिष्‍कार कीजिए। लोग हरेक चौक-चौराहे पर इनके पुतले फूंकें तथा छोटी-छोटी दुकानों को बढ़ावा देवे। किसान अब कॉरपोरेट घरानों के शॉपिंग मॉल्स, गोदाम, पेट्रोल पंप व दूसरे संस्थानों के आगे धरने देंगे। जानकारी के मुताबिक, किसानों के आंदोलन की वजह से पंजाब से चलने वाली 14 यात्री ट्रेनें अभी बंद हैं। इनमें से अनेक ट्रेनें अंबाला से आंशिक रूप से चलाई जा रही हैं। किसानों ने अनिश्चितकाल हेतु रेल ट्रैकों पर बैठने की घोषणा कर दी है, इससे जाहिर है कि रेल यात्रियों की दिक्कतें भी अनिश्चितकाल हेतु जारी रहेगी। फिरोजपुर मंडल रेलवे के सीनियर डीओएम सुधीर कुमार की माने तो, किसानों के आंदोलन से मालगाडिय़ां प्रभावित नहीं हुई हैं। खाद्यान्न तथा दूसरी जरुरी वस्तुओं की ढुलाई पहले की तरह ही हो रही हैं। फिरोजपुर, अमृतसर व जालंधर से चलने वाली यात्री गाडिय़ों को अंबाला, दिल्ली आदि स्टेशनों से आंशिक रूप से चलाया जा रहा है। जैसे ही किसान रेलवे ट्रैक से हटेंगे, वैसे ही पंजाब के स्टेशनों से यात्री ट्रेनों का आवागमन प्रारम्भ हो जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: