October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बलरामपुर में हाथरस जैसी घटना, 22 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप, आरोपियों ने कमर और पैर तोड़े, पीड़िता की मौत

बलरामपुर:- हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता की अभी चिता भी नहीं बुझी थी कि उत्तर प्रदेश में ऐसी ही एक और मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई हैं। यूपी के हाथरस में युवती के साथ हुई दरिंदगी के बाद इसी तरह का मामला बलरामपुर में सामने आया है। यहां एक 22 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप के बाद हुई मौत से पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं। पीड़िता की अस्पताल ले जाने के दौरान मौत हो गई। यह मामला बलरामपुर के कोतवाली गैंसड़ी क्षेत्र का है जहां अब इसके बाद पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो चुका है। बताया जा रहा है कि दरिदों ने छात्रा की कमर और पैर तोड़ दिए थे। परिवारजन शुरू से ही छात्रा के अपहरण के बाद दुष्कर्म का आरोप लगाते रहे। जबकि पुलिस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को ढाल बनाकर पूरे दिन कुछ भी कहने से बचती रही। एक निजी चिकित्सक के बयान पर पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में ले लिया। देर रात पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म व हत्या के आरोप में दो को नामजद किया है। लड़की की मां का कहना है कि आरोपियों ने बेटी की कमर और पैर भी तोड़ दिए, इसलिए न तो वह खड़ी हो पा रही थी और न ही बोल पा रही थी। बस इतना ही कह पाई कि पेट में बहुत तेज जलन हो रही है, हम मर जाएंगे। जानकारी के अनुसार मामला कोतवाली क्षेत्र का है। यहां मृतका के भाई ने तहरीर में कहा है कि उसकी बहन मंगलवार को सुबह दस बजे घर से निकली थी। रिक्शा से देर शाम घर पहुंची। उस समय उसकी हालत ठीक नहीं थी। रिक्शा वाले ने भी कुछ नहीं बताया। छात्रा बोल नहीं पा रही थी। परिवार के लोग उसे लेकर आनन-फानन में अस्पताल के लिए निकले, लेकिन रास्ते में ही मौत हो गई। छात्रा गैंसड़ी बाजार स्थित एक किराना दुकानदार के खाली मकान में गई थी। दुकान के पीछे ही मकान है। बाजार स्थित निजी क्लीनिक के चिकित्सक डॉ. जियाउर्रहमान ने बताया कि दुकानदार शाहिद का भतीजा साहिल मंगलवार की शाम करीब सवा पांच बजे अपने घर इलाज करने के लिए बुलाकर ले गया था। वहां पहुंचने पर देखा तो छात्रा सोफा पर लेटी थी। वह पेट दर्द की बात कहकर दवा मांग रही थी, लेकिन घर में किसी महिला सदस्य के ना होने पर दवा देने से मना कर बाहर निकल आया। आस-पास वालों को बुलाकर छात्रा के घर वालों को सूचना देने को बता कर वापस क्लीनिक चला आया। उसे कौन कहां ले गया। इसकी जानकारी नहीं है। छात्रा की मां का आरोप है कि उसकी बेटी सुबह विमला विक्रम महाविद्यालय पचपेड़वा में बीकॉम में प्रवेश लेने के लिए मंगलवार सुबह दस बजे निकली थी। कॉलेज से लौटने पर उसे बाजार स्थित मकान में ले जाकर दरिंदगी की गई। घर लौटने पर उसकी हालत ठीक नहीं थी। कमर के नीचे का हिस्सा काम नहीं कर रहा था। जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश का कहना है कि बुधवार की शाम मृतका के भाई की तहरीर पर शाहिद व साहिल के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म कर मार डालने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: