October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 700 के पार पहुंचा,सबसे अधिक स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिले में हुई मौत

रांची:- झारखंड में कोरोना वारयस से मरने वालों का आंकड़ा पूरे 700 पर पहुंच गया है।सबसे ज्यादा मौतें स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के गृह जिले जमशेदपुर में हुई है।जमशेदपुर में 298 लोगों ने कोरोना से जान गंवाई है। जबकि राजधानी रांची में 112 लोगों की और धनबाद में 62 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। इन तीन शहरों में सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स, एमजीएम और पीएमसीएच हैं।जहां कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है. साथ ही जमशेदपुर में टीएमएच को भी कोविड सेंटर बनाया गया है. धनबाद मे सेंट्रल हॉस्पिटल को भी कोविड सेंटर बनाया गया है। जमशेदपुर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का गृह जिला भी है। वे जमशेदपुर पश्चिमी से कांग्रेस के विधायक हैं। मंत्री लगातार जमशेदपुर में बैठकें भी करते रहे हैं। 29 सितंबर की रात नौ बजे जारी आधिकारिक बुलेटिन के मुताबिक अब तक राज्य में 82540 पॉजिटिव केस मिले हैं। जबकि 69 हजार 998 लोग इस महामारी से ठीक हुए हैं. अभी एक्टिव यानी सक्रिय केस की संख्या 11942 है। राहत की खबर यह भी है कि राज्य में कोरोना से रिकवरी रेट 84.67 प्रतिशत हो गया है। जबकि देश में रिकवरी रेट 83 प्रतिशत हो गया है। सबसे कम पाकुड़ में कोरोना वायरस से दो लोगों की मौत हुई है। बोकारो में और हजारीबाग में 23 लोगों ने कोरोना से दम तोड़ा। हालांकि कोरोना की जांच की रफ्तार बढ़ाई गई है।रांची में लगातार मास ड्राइव चलाया जा रहा है।जब कि कई जगहों पर स्टैटिक जांच केंद्र स्थापित किए गए हैं। जबकि दुमका और पलामू में जांच की सुविधा बहाल की गई है। निजी लैब में जांच की दर 1500 रुपए तय किए जाने से जांच के प्रति लोगों का रूझान बढ़ा है। अब तक 22 लाख 13350 सैंपल की जांच पूरे राज्य में की गई है। गौरतलब है कि झारखंड में कोरोना से पहली मौत 9 अप्रैल को बोकोरो में हुई थी। लगभग 70 साल का वह बुजुर्ग मरीज बोकारो जिले में गोमिया प्रखंड अंतर्गत साड़म के रहने वाले थे। पिछले तीन महीने में मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। 12 जुलाई की रात दस बजे जारी आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक पूरे राज्य में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 202 थी।इसके बाद 80 दिनों में 498 लोगों की जान गई। झारखंड में कोराना का ग्रोथ रेट 1.57 प्रतिशत पर है। जबकि देश में यह 1.41 प्रतिशत पर है। जुलाई महीने की पहली तारीख को तमाम आंकड़े बता रहे थे कि राज्य कोरोना के जद से तेजी से बाहर निकल रहा है. लेकिन बाद में कोरोना ने पलट कर लपेटना शुरू कर दिया।

Recent Posts

%d bloggers like this: