October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गूगल ने मशहूर अभिनेत्री जोहरा सहगल को याद कर बनाया डूडल

नई दिल्ली:- गूगल ने मंगलवार को प्रतिष्ठित भारतीय अभिनेत्री जोहरा सहगल के सम्मान में उन्हें याद करते हुए डूडल बनाया। सहगल देश की पहली कलाकारों में से थीं, जिन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त थी। उन्हें 1998 में पद्म श्री, 2001 में कालिदास सम्मान और 2010 में पद्म विभूषण सहित देश के सर्वोच्च पुरस्कार से नवाजा गया। गूगल अमूमन हर दिन किसी न किसी महान शख्सित को याद करते हुए डूडल बनाता है। उनका जन्म सहारनपुर में ढोली खाल के पास मोहल्ला दाऊद सराय में 27 अप्रैल 1912 को पठान मुस्लिम परिवार में हुआ था। उनके बचपन का नाम साहेबजादी जोहरा बेगम मुमताज उल्ला खान था। उनके पिता मुमताज उल्ला खान और नातिका उल्ला खान उतर प्रदेश के रामपुर निवासी थे।
7 बच्चों में तीसरे नंबर की जोहरा बचपन से ही विलक्षण प्रतिभा वाली थीं, लेकिन अपनी रुचि के अनुसार नृत्य और रंगमंच में 14 साल तक सक्रिय रहने के बाद उनकी जवानी से लेकर बुढ़ापे तक का सफर फिल्मी दुनिया के नाम रहा। वह अकेली ऐसी शख्स रहीं, जिन्होंने पृथ्वीराज कपूर, पिछली सदी के महानायक अमिताभ बच्चन से लेकर नए जमाने के अभिनेता रणबीर कपूर तक के साथ अभिनय कर छाप छोड़ी। जोहरा ने अपनी पढा़ई क्वीन मैरी कॉलेज से पूरी की और उनके लिए कॉलेज में पर्दा रखना अनिवार्य था। जर्मनी के मैरी विगमैन बैले स्कूल में एडमीशन पाने वाली वह पहली भारतीय महिला बनीं। 3 साल तक यहां जोहरा ने नए जमाने का डांस सीखा। एक कार्यक्रम के दौरान जोहरा की मुलाकात भारत के मशहूर नर्तक उदय शंकर से हुई।
विदेश में इतनी खूबसूरत भारतीय युवती की पारंपरिक नृत्य में दिलचस्पी देख उदय शंकर बहुत खुश हुए और बोले कि वतन पहुंचते ही वह उनके लिए काम देखेंगे। बाद में उन्होंने भारतीय नृत्य क्षेत्र के महान शख्सियत उदय शंकर के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दौरा किया। 1945 के वर्षों के बाद, सहगल इंडियन पीपुल्स थियेटर एसोसिएशन में शामिल हो गईं और अभिनय में जुट गईं। उनकी कुछ प्रसिद्ध फिल्मों में नीचा नगर शामिल है, जो 1946 में कान फिल्म समारोह में प्रदर्शित हुई थी। फिल्म ने महोत्सव का सर्वोच्च सम्मान, पाल्मे डी’ओर पुरस्कार जीता। 1962 में सहगल के लंदन चले जाने के बाद, उन्होंने ‘डॉक्टर हू ‘और ‘द 1984 माइनिजीरिज द ज्वैल इन द क्राउन’ जैसे ब्रिटिश टेलीविजन शो में काम किया। उन्होंने बेंड इट लाइक बेकहम में भी भूमिका निभाई। 10 जुलाई, 2014 को नई दिल्ली में सहगल का निधन हो गया था।

Recent Posts

%d bloggers like this: