October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखण्ड केंद्रीय विश्वविद्यालय को लेकर केंद्रीय मंत्री से मिले राँची सांसद

विश्वविद्यालय में शुरू हो अर्न बाय लर्न के तहत इंटर्नशिप कार्यक्रम

अटल जी के नाम पर इनोवेशन सेंटर व शोध के विद्यार्थियों के लिए रिसर्च फाउंडेशन सेंटर खोलने का आग्रह

राँची:- झारखण्ड केंद्रीय विश्वविद्यालय में शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार व अध्ययन-अध्यापन से सम्बंधित संसाधनों को बढ़ाने को लेकर राँची के सांसद श्री संजय सेठ ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान सांसद ने केंद्रीय मंत्री के समक्ष झारखण्ड केंद्रीय विश्वविद्यालय की समस्याओं को रखा और उसमें सुधार हेतु कई बिंदुओं पर चर्चा भी की। केंद्रीय मंत्री ने इन समस्याओं के समाधान का आश्वासन भी दिया।
सांसद ने केंद्रीय मंत्री के समक्ष कई मांगे भी रखीं ताकि विश्वविद्यालय का लाभ देश भर से अध्ययन के लिए आने वाले विद्यार्थियों को मिल सके। मंत्री के समक्ष रखी गई प्रमुख मांगों में केंद्रीय विश्वविद्यालय में साइबर लाइब्रेरी खोलने की मांग शामिल है ताकि जिन छात्रों के पास तकनीकी की सुविधा न हो वहां बैठकर पढ़ सके। वहीं आर्ट्स और सोशल साइंस के कोर विषय के साथ स्नातक की पढाई शुरू करवाने की मांग भी सांसद ने की है। पूरी दुनिया में योग के बढ़ते प्रभाव को लेकर योग से जुड़े कोर्स में डिप्लोमा व मास्टर्स की पढ़ाई शुरू किए जाने की मांग की गई है।
उन्होंने सुझाव दिया है कि अर्न बाय लर्न की योजना के तहत इंटर्नशिप शुरू करना चाहिए, जिससे आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को विश्वविद्यालय में ही उनकी योग्यता के अनुसार काम और उस अनुसार उन्हें प्रोत्साहन राशि भी मिल सके। इसके अलावे स्किल डेवलपमेन्ट से जुड़े विभिन्न डिप्लोमा कोर्स व।
शारीरिक शिक्षा से जुड़े कोर्स आरम्भ किए जाने की मांग भी उन्होंने की है।
इंटरपेनियोर में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम पर अटल इनोवेशन सेंटर की शुरुआत की माँग भी इन्होंने की है।
एक ही छत के नीचे विश्वविद्यालय सहित दुनिया के हर कोने से अलग अलग विषय के विद्यार्थी शोध से जुड़े जरूरी कार्य करने के लिए रिसर्च फाउंडेशन सेंटर भी खोलने आग्रह सांसद ने मंत्री से किया है। उन्होंने कहा है कि इस विश्वविद्यालय में आर्थिक रूप से कमजोर छात्र भी पढ़ाई व शोध का काम करते हैं। उनके लिए क्षेत्र भ्रमण के लिए भारत के बाहर जाने हेतु आर्थिक सहायता दी जानी चाहिए।
हर साल विश्वविद्यालय के अलग-अलग विभागों से छात्रों को ट्रेन यात्रा से भारत के अलग अलग स्थान जो भारतीय इतिहास के विरासत में दर्ज है, वहां पर प्रोजेक्ट वर्क के लिए भेजने पर भी विचार करने का आग्रह सांसद संजय सेठ ने किया है। मंत्री से मुलाकात के बाद सांसद ने कहा कि मंत्री महोदय ने सारी बातों को गंभीरता से सुना है और इसपर सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: