October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

संतुलित आहार, स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर हृदय रोग से बचें : पारस एचईसी हॉस्पिटल

वर्ल्ड हार्ट डे के मौके पर पारस एचईसी हॉस्पिटल धुर्वा, रांची के इमरजेंसी विभाग के प्रमुख डाॅ. राजीव रंजन सिंह ने हृदय रोग से बचाव के तरीके बताए
विश्व में प्रतिवर्ष हृदयाघात या हृदय रोग से 17.9 मिलियन लोगों की मौत हो जाती है जबकि भारत में 2.1 मिलियन यानी 21 लाख लोगों की मौत प्रतिवर्ष होती है

राँची:- 28 सितम्बर 2020: वर्ल्ड हार्ट डे के उपलक्ष्य में पारस एचईसी हॉस्पिटल धुर्वा, रांची के इमरजेंसी विभाग के प्रमुख डाॅ. राजीव रंजन सिंह ने कहा है कि संतुलित आहार और स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर कोई भी हृदय रोग से बच सकता है। बी.पी., डायबिटीज, मोटापा, तम्बाकू और शराब का सेवन, तनाव, कोलेस्ट्रोल और व्यायाम की कमी इसके मुख्य कारण माने गये हैं। डायबिटीज और बी.पी. के मरीज नियमित रूप से डाॅक्टर से सलाह लेकर दवाएं लें। जंक फूड और चर्बी का सेवन न करें।
उन्होंने कहा कि छाती दर्द और पेट दर्द को कभी हल्के में नही लेना चाहिए। यह हार्ट अटैक के कारण हो सकते हैं। छाती में बायीं ओर दर्द होना, पसीना आना और दर्द बढ़कर बायें हाथ तक चला जाय तो यह भी हार्ट अटैक के कारण माने जाते हैं। इस दौरान उलटी भी हो सकती है तथा सांस भी फूलती है। उन्होंने कहा कि ठंड में नसें सिकूड़ जाती हैं, इसलिए हार्ट अटैक की संभावना अधिक बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि हृदय रोग तेजी से फैल रहा है, यह चिंता का विषय है। हृदयाघात या हृदय रोग से विश्व में 17.9 मिलियन लोगों की मौत प्रतिवर्ष होती है। अपने देश में एक अनुमान के अनुसार 2.1 मिलियन यानी 21 लाख लोगों की मौत प्रतिवर्ष होती है। ऐसे में इस बीमारी से बचाव के लिए नमक का कम सेवन, जंक फूड और कोल्ड ड्रिंक्स से परहेज करके तथा अपनी दिनचर्या में योग, ध्यान तथा व्यायाम को शामिल कर इस बीमारी से बचा जा सकता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: