October 31, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बच्चे की जिद पर पिता ने देसी जुगाड़ से बनायी बैटरी वाली कार

आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार करने की मिलती है झलकियां

हजारीबाग:- हजारीबाग में बच्चों की जिद पर एक मिस्त्री पिता द्वारा तैयार देसी जुगाड़ से बनी बैटरी वाली कार आजकल इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। इस जुगाड़ तकनीक से बनी कार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलौना के क्षेत्र में आत्म निर्भर भारत का सपना साकार करने की झलकियाँ भी नज़र आती है बच्चों की जिद के आगे लोगों की एक न चलती है। कभी-कभी बच्चों की यही जिद कमाल कर जाती है। ऐसा ही कुछ हजारीबाग जिला के बड़कागांव प्रखंड में देखने को मिला है। लॉकडाउन में छोटे बच्चे की कार की जिद ने पिता अलाउद्दीन उर्फ कल्लू मिस्त्री को देसी जुगाड़ से बैटरी वाली कार के निर्माण की प्रेरणा दी और उन्होंने देसी जुगाड़ से बैटरी वाली कार बना दिया। देसी जुगाड़ से बनी इस कार को कमतर नहीं बोला जा सकता क्योंकि यह कार न केवल आगे जाती है बल्कि बैक गियर में भी काम करती है बच्चों के साथ-साथ बड़े भी इस देसी जुगाड़ से बनी बैटरी वाली कार पर आजकल सफर कर रहे हैं जो आजकल बड़कागांव में सुर्खियाँ बटोर रहा है और अब दूर दूर से लोग इसे देखने आ रहे हैं। इलाके के लोगों का मानना है की यदि अलाउद्दीन उर्फ कल्लू मिस्त्री जैसे प्रतिभावान व्यक्ति को सरकारी सहयोग मिलता है तो वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलौना के क्षेत्र में आत्म निर्भर भारत का सपना पूरा करने में बड़ी कड़ी साबित हो सकतें हैं । कार बनाने वाले अलाउद्दीन उर्फ कल्लू मिस्त्री का भी कहना है कि वे संसाधन की कमी के कारण ही बड़ा कुछ नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन इस बैटरी वाली कार के सफलतापूर्वक कार्य करने से उनका मनोबल बढ़ा है और आगे इससे बड़ी योजना बना रहे हैं। अलाउद्दीन उर्फ कल्लू मिस्त्री की बैटरी वाली इस कार को देखकर कहा जा सकता है की हमारे देश में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और कोई बेकार नहीं है अगर अवसर और संसाधन मिले तो दिमाग का पहिया खूब घूमेगा जो सड़कों पर इस कार की शक्ल में सरपट दौड़ता नज़र आएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: