October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पाक-चीन से एकसाथ निपटने की तैयारी में है भारत, दिन-रात उड़ान भर रहे एयरफोर्स के फाइटर और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट

नई दिल्ली:- भारत-चीन सीमा पर चल रहे तनाव के बीच भारतीय सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह चौकन्नी हैं। वायु सेना के जेट फाइटर ने शुक्रवार को भी सीमा के निकट उड़ान भरी। भारत अब चीन और पाकिस्तान से एक साथ निपटने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) और चीन बॉर्डर पर पहुंची। यह एयरबेस पाकिस्तान से 50 किलोमीटर दूर और युद्ध के नजरिए से अहमियत रखने वाले दौलत बेग ओल्डी से 80 किलोमीटर की दूरी पर है। पाकिस्तान की ओर से कोई भी हिमाकत होने पर इन दोनों एयर बेस से उड़े लड़ाकू जहाज महज 2 से 4 मिनट में उसके ठिकानों को तबाह कर देंगे। यहां पर ट्रांसपोर्ट, फाइटर एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर की एक्टिविटी दिन-रात जारी है। इन दोनों एयर बेस पर इन दिनों लड़ाकू जहाजों के साथ ही लड़ाकू हेलीकॉप्टरों, मालवाहक विमान और ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टरों की आवाजाही बहुत बढ़ गई है। दिन के साथ ही यहां पर रात में भी ऑपरेशन करने का लगातार अभ्यास किया जा रहा है। इन एयर बेस पर सुखोई 30MKI की गर्जना दुश्मनों को डरा रही है। फॉरवर्ड एयरबेस पर खारडुंगला पास और श्योक नदी से होकर पहुंचा जाता है। यहां पर अभी सुखोई- 30 एमकेआई के ऑपरेशन जारी थे। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट सी-30जे सुपरहरकुलिस, ल्यूशिन-76 और एंटन-32 के ऑपरेशन दिन-रात जारी हैं। वहीं विशालकाय ट्रांसपोर्ट विमान C-130J, IL-76 और AN-32 लगातार इन एयर बेस समेत पूर्वी लद्दाख में सैनिक, हथियार और राशन की सप्लाई करने में जुटे हैं। आशंका जताई जा रही है कि चीन के साथ युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान भी भारत के खिलाफ मोर्चा खोल सकता है और स्कार्दू एयर बेस से भारत के ठिकानों पर हमला कर सकता है। बता दें कि इससे पहले पीओके में स्कार्दू एयरबेस पर जून में चीन का एक री-फ्यूलर एयरक्राफ्ट उतरा था। हालांकि, भारत का फॉरवर्ड एयरबेस श्योक के किनारे है। इस नदी में गलवान नदी भी आकर मिलती है। गलवान में ही भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस में 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे और एक अमेरिकी रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के 60 से ज्यादा सैनिक मारे गए थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: