October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

केरल सोना तस्करी मामले में आरोपी स्वप्ना सुरेश को झटका, न्यायिक हिरासत 8 अक्टूबर तक बढ़ी

कोच्चि:- केरल सोना तस्करी मामले में आरोपी स्वप्ना सुरेश को झटका लगा है। विशेष एनआईए अदालत ने स्वप्ना सुरेशा की न्यायिक हिरासत 8 अक्टूबर तक बढा दी है।विशेष एनआईए अदालत ने शुक्रवार को फिर से केरल सोना तस्करी मामले की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश को 8 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। स्वप्ना पिछले चार दिनों से राष्ट्रीय जांच एजेंसी की हिरासत में थी और पूछताछ के बाद स्वप्ना को अदालत में पेश किया गया था। उसने अदालत को बताया कि वह त्रिशूर जेल से शिफ्ट होना चाहेगी, जिसके बाद अदालत ने निर्देश दिया कि उस यहां से जेल ले जाया जाए। अब जब उसकी न्यायिक हिरासत बढ़ा दी गई है,तब एनआइए की टीम ने अदालत को सूचित किया कि उस मामले में आगे पूछताछ करने की आवश्यकता होगी जिस मामले की वजह से केरल में राजनीतिक तूफान पैदा हो गया है। गुरुवार को एनआईए ने आठ घंटे से अधिक समय तक निलंबित वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर की मौजूदगी में उनसे पूछताछ की। स्वप्ना सुरेशा ने ऑन रिकॉर्ड अपने बयान में कहा है कि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकर उनके गुरु थे। जांच एजेंसी के अधिकारियों के अनुसार, उनसे यह पूछताछ मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश के साथ बैठाकर की गई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में स्वप्ना सुरेश और शिवशंकर की निकटता जाहिर हो चुकी है। यह जानकारी ईडी एर्नाकुलम के सत्र न्यायालय को भी दे चुकी है। इसके बाद ही सोना तस्करी मामले में शिवशंकर से पूछताछ हुई। मामला पहली बार सामने आया जब यूएई वाणिज्य दूतावास के एक पूर्व कर्मचारी पीएस सरीथ को 5 जुलाई को सीमा शुल्क द्वारा गिरफ्तार किया गया था जब वह दुबई से तिरुवनंतपुरम के लिए एक राजनयिक सामान में 30 किलो सोने की तस्करी की सुविधा प्रदान कर रहा था। मामले में मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश और उनके सहयोगी संदीप नायर को एनआईए ने 11 जुलाई को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था।

Recent Posts

%d bloggers like this: