October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भारत में हार्ले डेविडसन ने बंद किए ऑपरेशंस

अपने प्लान्स पर नए सिरे से काम कर रही कंपनी

नई दिल्ली:- भारत में हार्ले डेविडसन कंपनी ने अपने मैन्युफैक्चरिंग ऑपरेशंस बंद कर दिए हैं। प्रीमियम बाइक बनाने वाली कंपनी अब अपने प्लान्स पर नए सिरे से काम कर रही है। इसे कंपनी ने ‘द रिवायर’ स्ट्रेटिजी नाम दिया है और आज अपने कर्मचारियों को एक बार फिर से नया ढांचा तैयार करने में आने वाले कॉस्ट की जानकारी दी। कंपनी के मुताबिक साल 2020 में कंपनी की रिस्ट्रक्चरिंग कॉस्ट 75 मिलियन डॉलर रखी गई है और इसमें भारत में कंपनी के ऑपरेशंस बंद करना भी शामिल है। कंपनी के प्रेजिडेंट जोचेन झैथ ने बताया कि इस साल कंपनी अपनी द रिवायर स्ट्रटिजी पर कुल 169 मिलियन डॉलर खर्च करेगी। अगस्त से शुरू हुआ कंपनी का रिस्ट्रक्चर सेटअप अगले 12 महीनों में पूरा होने की उम्मीद की जा रही है। इस नीति की तहत कंपनी ने भारत में सेल और मैन्युफैक्चरिंग दोनों ऑपरेशंस ही बंद कर रही है। यानी कि ना तो बाइक्स तैयार की जाएंगी और ना ही इनकी सेल इस दौरान होगी।
बीते कुछ समय से कंपनी पर बाइक्स की सेल बढ़ाने का काफी दबाव रहा है। भारत समेत दुनिया के कई बाजारों में कंपनी की सेल बीते कुछ समय में काफी कम हुई है।जोचेन झैथ ने हाल ही में कंपनी की पूर्व प्रेजिडेंट माट लेवटीच को रिप्लेस किया था। अब कंपनी नई नीति की तहत दुनिया भर में अपनी बाइक्स की सेल को बूस्ट करेगी। हालांकि भारत में प्रीमियम बाइक्स सेगमेंट में हार्ले डेविडसन अभी भी लीड कर रही है। इस प्रतिष्ठित अमेरिकन कंपनी ने भारत में 2009 में अपने ऑपरेशंस शुरू किए थे। साल 2010 में हार्ले डीलरशिप पर कंपनी की पहली बाइक आई। कंपनी के मेड इन इंडिया स्ट्रीट 750 मॉडल्स भारत में काफी फेमस हैं। पिछले आर्थिक वर्ष में कंपनी ने 2500 से भी कम यूनिट भारत में सेल की थी। अप्रैल से जून 2020 में भारत में कंपनी करीब 100 बाइक्स ही सेल हुई। यह कंपनी की सबसे खराब इंटरनेशनल परफॉर्मेंस में से एक है।

Recent Posts

%d bloggers like this: