October 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

फीफा अंडर-17 फुटबॉल विश्व कप पर भी खतरा मंडराया

नई दिल्ली:- कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भारत में अगले साथ फरवरी-मार्च में होने वाले फीफा अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्व कप पर भी खतरा मंडराने लगा है। यह टूर्नामेंट पहले दो से 21 नवंबर के बीच पांच स्थानों पर आयोजित किया जाना था पर महामारी के कारण बाद में इसका आयोजन अगले साल 17 फरवरी से सात मार्च के बीच करने का फैसला किया गया था पर महामारी के अब भी कम होने के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। इसके अलावा अफ्रीका, उत्तरी और मध्य अमेरिका तथा दक्षिण अमेरिका के क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट भी नहीं हो पाये हैं, ऐसे में इस टूर्नामेंट के फिर से स्थगित किए जाने की पूरी संभावनाएं हैं। यह टूर्नामेंट अगर स्थगित हुआ तो बाद में कब आयोजित किया जाएगा, इसके बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। वहीं अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) के महासचिव कुशल दास ने कहा कि इस मामले में अभी उन्हें कोई नई जानकारी नहीं मिली है।
इस टूर्नामेंट के आयोजन में अब पांच महीने से भी कम समय बचा है तथा अफ्रीका, उत्तर और मध्य अमेरिका (कॉनकाकाफ) और दक्षिण अमेरिका (कॉनमेबोल) को अभी क्वॉलिफायर्स का आयोजन करना है। यूरोप (यूएफा) ने पिछले महीने अपना क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट रद्द करके अपनी सर्वोच्च रैंकिंग वाली टीमों स्पेन, इंग्लैंड और जर्मनी को विश्व कप में खेलने के लिए नामित किया था। ओसियाना परिसंघ ने भी यही तरीका अपनाया और उसकी तरफ से न्यूजीलैंड अंडर-17 विश्व कप में खेलेगा। केवल एशिया निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार क्वॉलिफायर्स का आयोजन कर पाया। जापान और उत्तर कोरिया ने 2019 एएफसी अंडर-16 महिला चैंपियनशिप में विजेता और उप विजेता बनकर क्वॉलिफाई किया। एआईएफएफ अगले महीने राष्ट्रीय शिविर शुरू करने की योजना बना रहा था लेकिन टूर्नामेंट स्थगित होने पर वह इसे भी टाल सकता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: