October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मैट्रिक और इंटर के टॉपर्स को शिक्षा मंत्री ने दी ऑल्टो कार

रांची :- मैट्रिक और इंटरमीडिएट के राज्य टॉपर्स को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो और विधानसभा अध्यक्ष रबींद्रनाथ महतो ने संयुक्त रूप से ऑल्टो कार का चाबी सौंपी। इस साल के मैट्रिक टॉपर मनीष कुमार कटियार और इंटर के ओवरऑल टॉपर अमित कुमार को यह सम्मान दिया गया। इस दौरान शिक्षा मंत्री ने घोषणा की कि अगले साल से वे राज्य के टॉपर्स को गोद लेंगे ताकि वो बच्चा अपने आगे की पढ़ाई पूरी कर सके। उनकी पढ़ाई का पूरा खर्च मैं खुद उठाऊंगा। कार्यक्रम के दौरान शिक्षा मंत्री ने कहा कि मैं यहां मंत्री के साथ छात्र की हैसियत से भी खड़ा हूं। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि अगले साल मैं भी यह प्राइज जीत सकता हूं। उन्होंने कहा कि रिजल्ट वाले दिन उन्होंने टॉपर्स को कार देने की घोषणा की थी जिसे आज पूरा कर दिया। उन्होंने कहा कि इस संबंध में सदन में एक साथी की ओर से सुझाव आया था कि बच्चों को कार न देकर उन्हें नगद राशि दी जाए, जिससे रकम उनके भविष्य की पढ़ाई में काम आ जाए। फिर शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस बार घोषणा कर दी है तो कार देनी पड़ेगी। अगली बार से टॉपर्स के आगे की पढ़ाई का सारा खर्च मैं खूद उठाऊंगा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि वे पिछले 15 साल से अपने क्षेत्र के टॉपरों को विनोद बिहारी जयंती के दिन लैपटॉप देते आ रहे हैं। पहले उन्होंने घोषणा की थी कि उनके इंटर कॉलेज का कोई बच्चा अगर राज्य का टॉपर होगा तो उसे वे ऑल्टो कार देंगे। अब मंत्री बनने के बाद तो राज्य के सारे बच्चे अपने हुए। ऐसे में जो भी बच्चा टॉप किया, उसे तो ऑल्टो कार देनी ही थी। मंत्री बन जाने के बाद उन्होंने इस कार्यक्रम को भी राज्य स्तरीय कर दिया। कार, बाइक और साइकिल की खरीद पर कुल कितनी राशि खर्च हुई के सवाल पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि अब इतना क्या जोड़ना। समाज का काम है, समाज मेरे साथ है। बच्चों को इससे प्रोत्साहन मिलता है। वे और मन लगा कर पढ़ते हैं। इसे देखते हुए वे पैसे को यहां महत्व नहीं देते।गिरिडीह के सरिया से इंटरमीडिएट साइंस में टॉपर अमित कुमार ने कहा कि उन्होंने 2018 में भी राज्य में मैट्रिक में दूसरा स्थान प्राप्त किया था। आज मुझे कार मिली है जिससे आने वाले छात्रों को प्रोत्साहन मिलेगा कि वे भी अच्छा कर सकते हैं। साइंस में अमित कुमार 457 अंकों के साथ टॉप किया है। अमित प्लस टू एसआरएसएसआर हाई स्कूल सरिया, बगोदर गिरिडीह के छात्र हैं। अमित कुमार के पिता बीरेन्द्र कुमार वर्णवाल व माता सीमा देवी हैं। अमित के दो भाई और बहन हैं। उनके पिता का सरिया रेलवे फाटक के पास बैटरी इन्वर्टर की दुकान है। अमित एनडीए की परीक्षा में भी सफल हो चुके हैं। लेकिन फिलहाल वो इंजीनियरिंग करना चाहते हैं और आगे यूपीएससी सिविल सर्विसेज में जाने का लक्ष्य है।मैट्रिक टॉपर मनीष कुमार कटियार ने कहा कि उन्होंने साइंस में एडमिशन लिया है और आगे प्रशासनिक सेवा में जाना चाहते हैं। आने वाले छात्रों के लिए कहा कि सिलेबस को फॉलो करे। आरईएस हाई स्कूल, नेतरहाट के मनीष कुमार कटियार 490 अंक के साथ स्टेट टॉपर बने हैं। मनीष साहिबगंज के रहने वाले हैं और उनके पिता किसान हैं। मनीष बताते हैं कि पिता देवासीख भारती उर्फ केदार महतो खेती करते हैं। खाली समय में कभी-कभार वो भी पिता का हाथ बंटाते हैं। परीक्षा की तैयारी में मनीष ने गंभीर होकर पढ़ाई की। वो दो भाई और बहन में सबसे बड़े हैं। बहन नौवीं में पढ़ाई कर रही है।

Recent Posts

%d bloggers like this: