October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए गठित कोषांगों की समीक्षा

रांची :- उपायुक्त, रांची छवि रंजन की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिये गठित विभिन्न कोषांगों के कार्यों की समीक्षा बुधवार को की गयी। रांची समाहरणालय स्थित उपायुक्त सभागार में आयोजित बैठक में सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी, सहयोगी पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित थे। बैठक में उपायुक्त छवि रंजन ने सबसे पहले रांची जिला में विभिन्न स्थानों पर किये जा रहे कोविड-19 जांच की जानकारी ली। टेस्टिंग सेल के प्रभारी को उपायुक्त ने कोविड-19 के लिए सभी तरह किये जा रहे टेस्ट की माॅनिटरिंग करने को कहा। उपायुक्त ने रैपिड एंजीजेन टेस्ट और आरटीपीसीआर टेस्ट के रेशियो को मेंटेन करने का निदेश देते हुए अनुमंडल पदाधिकारी रांची, सदर को सभी टेस्टिंग सेंटर के इंजार्च के साथ समीक्षा कर जांच की संख्या बढ़ाने को कहा। एडीएम लाॅ एंड आॅर्डर को उपायुक्त ने स्टैटिक टेस्टिंग सेंटर में टीम किस तरह से काम कर रही है इसकी जांच करने का निदेश दिया। होम आइसोलेशन सेल की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि होम आइसोलेशन के लिए प्रोटोकाॅल का पूरी तरह से पालन करें। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन की स्वीकृति देने से पहले इंसिडंेट कमांडर संबंधित मरीज का एनएचएम के द्वारा विकसित पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करें। होम आइसोलेशन में मरीज की जांच के लिए उपायुक्त ने कम से कम दस दिन में दो बार डाॅक्टर्स के विजिट करने का निदेश दिया। साथ ही मरीज का फोन एवं गूगल स्प्रेड शीट के माध्यम से निरंतर सतर्क निगरानी करने को कहा। कोविड-19 की जांच एवं इलाज के लिए प्राइवेट हाॅस्पीटल और लैब में सरकार के द्वारा तय किये गये दर का पालन हो रहा है या नहीं इसे लेकर उपायुक्त ने संबंधित सेल को पदाधिकारी को जांच कर प्रतिदिन रिपोर्ट देने का निदेश दिया। बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी कोविड केयर सेंटर में लाॅजिस्टिक की उपलब्धता के बारे में जानकारी लेते हुए संबंधित पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निदेश दिये। उपायुक्त ने एसीएमओे रांची को एचईसी पारस अस्पताल और खेलगांव स्थित कोविड केयर सेंटर में विजिट कर वहां कितने डाॅक्टर्स की आवश्यकता है इसकी जानकारी देने को कहा। एसीएमओ से उन्होंने सदर अस्पताल में बेड की उपलब्धता और आॅक्सीजन सप्लाई से संबंधित की गयी तैयारी के बारे में विस्तार से जानकारी लेते हुए जरुरी निर्देश दिये। इसके अलावा अन्य कोषांगों के कार्यों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारियों को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

Recent Posts

%d bloggers like this: