October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

डीआरडीओ ने किया ‘अभ्यास’ का सफल उड़ान परीक्षण

नई दिल्ली:- रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने मंगलवार को हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (हीट) का सफल उड़ान परीक्षण ओडिशा के बालासोर तट से किया। इस दौरान दो प्रदर्शनकारी वाहनों का भी सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। इन वाहनों का उपयोग विभिन्न मिसाइल प्रणालियों के मूल्यांकन के लिए लक्ष्य के रूप में किया जा सकता है।अभ्यास एक ड्रोन है जिसे विभिन्न मिसाइल प्रणालियों के मूल्यांकन के लिए एक लक्ष्य के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह देश की पहली स्थानीय रूप से विकसित प्रणाली है। यह ड्रोन दुश्मन के रक्षा तंत्र का परीक्षण करने के लिए विमान के रूप में डिकॉय कर सकते हैं। इसे वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान (एडीई) और डीआरडीओ ने डिजाइन और विकसित किया है। एयर वाहन को ट्विन अंडरस्लैंग बूस्टर का उपयोग करके लॉन्च किया गया है। यह एक छोटे गैस टरबाइन इंजन द्वारा संचालित है और इसमें मार्गदर्शन और नियंत्रण के लिए उड़ान नियंत्रण कंप्यूटर के साथ नेविगेशन के लिए इनरट्रियल नेविगेशन सिस्टम है। वाहन को पूरी तरह से स्वायत्त उड़ान के लिए क्रमादेशित किया गया है। एयर व्हीकल की जांच लैपटॉप आधारित ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन का उपयोग करके की जाती है। परीक्षण अभियान के दौरान 5 किमी की उड़ान की ऊंचाई, 0.5 मैक की वाहन गति, 30 मिनट की धीरज और परीक्षण वाहन की 2 जी टर्न क्षमता की उपयोगकर्ता की आवश्यकता को सफलतापूर्वक प्राप्त किया गया था। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक ट्विट में कहा ‘डीआरडीओ ने आईटीआर बालासोर से हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट अभ्यास के सफल उड़ान परीक्षण के साथ आज एक मील का पत्थर हासिल किया। इसका उपयोग विभिन्न मिसाइल प्रणालियों के मूल्यांकन के लिए एक लक्ष्य के रूप में किया जा सकता है। डीआरडीओ और इस उपलब्धि के लिए अन्य हितधारकों को शुभकामनाएं’।

Recent Posts

%d bloggers like this: