October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

उपसभापति का स्वागत, लेकिन वो दिखावे के लिए मीडिया को साथ लाए

अन्य सांसदों के साथ रातभर संसद परिसर में धरने पर बैठे टीएमसी सांसद का तंज

नई दिल्ली:- राज्यसभा में हंगामे को लेकर कल निलंबित किए गए 8 सांसद रातभर संसद परिसर में धरने पर बैठे रहे। सभी 8 सांसदों ने अपनी रात संसद परिसर में ही गुजारी और अपने निलंबन का विरोध किया। आज सुबह राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश निलंबित सांसदों से मिलने पहुंचे। उप सभापति सांसदों के लिए अपने साथ चाय लेकर आए थे। राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश ने कुछ देर बैठकर निलंबित सांसदों से बातचीत भी की। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद ने कहा कि हमें कहीं भी कभी भी डिप्टी चेयरमैन का स्वागत करना चाहिए। हमने ऐसा किया, लेकिन वह व्यक्तिगत तौर पर आए थे। दुर्भाग्य से वह दिखावे के लिए मीडिया के लोगों के साथ आए थे।
वहीं, कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा ने बताया, ‘हरिवंश जी ने कहा कि वह एक सहयोगी के रूप में हमसे मिलने आए थे, न कि राज्यसभा के उप सभापति के रूप में। वह हमारे लिए कुछ चाय और नाश्ता भी लाए। हमने अपने निलंबन के विरोध में कल यह धरना प्रदर्शन शुरू किया। हम पूरी रात यहां रहे हैं। कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा ने कहा कि सरकार की ओर से कोई भी हमसे मिलने नहीं आया है। कई विपक्षी नेता हमसे मिलने और हमारे साथ एकजुटता दिखाने के लिए आए थे। हम इस प्रदर्शन को जारी रखने जा रहे हैं। आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद संजय सिंह ने कहा कि उपसभापति जी सुबह धरना स्थल पर मिलने आये हमने उनसे भी कहा कि नियम क़ानून संविधान को ताक़ पर रखकर किसान विरोधी काला क़ानून बिना वोटिंग के पास किया गया जबकि बीजेपी अल्पमत में थी और आप भी इसके लिये ज़िम्मेदार हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: