October 31, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कृषि बिल के खिलाफ कांग्रेस विधायक ट्रैक्टर से विधानसभा पहुंची

विधानसभा के मुख्य द्वार पर धरना पर बैठकर सांकेतिक विरोध दर्ज कराया

रांची:- संसद में पारित कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस की ओर से देशभर में प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी क्रम में मंगलवार को रांची में कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि बिल के खिलाफ ट्रैक्टर से विधानसभा के माॅनसून सत्र के तीसरे और अंतिम दिन की कार्यवाही में हिस्सा लेने पहुंची। कांग्रेस विधायक मंगलवार को अपने कुछ सहयोगियों के साथ ट्रैक्टर पर बैठकर विधानसभा पहुंचने के बाद मुख्य द्वार पर धरना पर बैठ गयीं। इस दौरान उनके हाथ में तख्ती थी , जिसमें नरेंद्र मोदी को किसान विरोध बताया गया था। तख्ती पर लिखा था -‘‘ किसान विरोध नरेंद्र मोदी, किसानों के खिलाफ काला कानून वापस लो। ’’ उनके साथ बैठे कांग्रेस के विधायक ने भी तख्ती पकड़ी थी जिसपर लिखा था कि ना डरेंगे, ना झुकेंगे, हम लड़ेंगे। अपने खेत-खलिहानों के लिए, काले कानून के खिलाफ सड़क से सदन तक। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत में दीपिका पांडेय सिंह ने कहा कि पार्टी सदन से लेकर सड़क तक केंद्र सरकार के किसान विरोधी बिल का विरोध कर कर रही हैं। उन्होंने कहा कि शर्म की बात है कि झारखंड ने जिसे पहचान दी, हरिवंश को सभी लोगों ने उपसभापति बनाकर बैठाया। उनकी देखरेख में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की सदन में हत्या कर दी गई। ऐसा कानून गलत तरीके से राज्यसभा में पारित कराया गया जो सुनिश्चित करेगा कि पूंजीपति इस देश में बढ़े और यहां के अन्नदाता सड़कों पर भीख मांगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ऐसे किसी भी काला कानून का विरोध करती हैं , पूरी कांग्रेस पार्टी देश के किसानों के साथ खड़े हैं। इस मौके पर विधानसभा परिसर पहुंचे पेयजल स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने भी दीपिका पांडेय सिंह और अन्य कांग्रेस विधायक का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा लागू किए गए कृषि बिल काला कानून है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हर एक चीज को निजीकरण कर दी है अब जो खेती किसानी बची हुई थी उसे भी बड़े उद्योग कॉर्पोरेट घराने को हाथों में देने का काम कर रही है। यह कानून देश विरोधी है किसान विरोधी है इस कानून का जोरदार विरोध किया जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: