October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आयकर की आठ और प्रक्रियाओं के लिए फेसलेस आकलन प्रक्रिया शुरू होगी

नई दिल्ली:- मोदी सरकार का आयकर कानून के तहत सभी प्रक्रियाओं के लिए फेसलेस आकलन शुरू करने का प्रस्ताव है। इसमें कर संग्रह, वसूली और जानकारी एकत्र करना शामिल है।फेसलेस प्रक्रिया में किसी भी क्षेत्र के करदाता का कर आकलन देशभर के किसी भी आयकर कार्यालय में किया जाता है। उदाहरण के लिए चेन्नई के करदाता का कर आकलन सूरत के आयकर कार्यालय में हो सकता है।इसतरह सूरत के करदाता का कर आकलन गुवाहाटी में किया जा सकता है। मौजूदा वक्त में कर आकलन प्रक्रिया के तहत शुरू हुआ है और 25 सितंबर से अपील के मामले भी इसी प्रक्रिया के तहत आगे बढ़ेंगे। मोदी सरकार ने शुक्रवार को लोकसभा में कराधान और अन्य कानून (कुछ प्रावधानों में छूट एवं संशोधन) विधेयक-2020 पेश किया। इसमें आयकर कानून के तहत आने वाली कम से कम आठ प्रक्रियाओं के लिए फेसलेस (फेसलैस) आकलन का प्रस्ताव किया गया है। इस विधेयक में आय छिपाने, परिशोधन, संशोधन, नोटिस जारी करने इत्यादि के लिए फेसलैस आकलन का प्रस्ताव किया गया है। इसके अलावा कर संग्रह, कर वूसली, अनुमति या पंजीकरण और आदेश के प्रभाव का आकलन भी फेसलेस तरीके से करने को कहा गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: