October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

डॉ. रेड्डीज लैब्स ने रूस की कंपनी से ‎किया करार

6 महीने में 80 फीसदी चढ़ चुका है शेयर

मुंबई:- देश की प्रमुख फार्मा कंपनी डॉ.रेड्डीज लैब्स देश की उन दवा कंपनियों में शामिल हो गई है, जिन्होंने कोरोना वायरस महामारी के दौरान सटीक फैसले लिए हैं। इसी कड़ी में कंपनी ने रूस के सॉवरेन फंड रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड के साथ करार किया है। इसके तहत कंपनी भारत में रूस की कोरोना वैक्सीन स्पूत‎निक वी का क्लीनिकल ट्रायल और डिस्ट्रिब्यूशन करेगी। कंपनी के इस कदम से शेयर बाजार उत्साहित है। गुरुवार को डॉ. रेड्डी का शेयर रेकॉर्ड स्तर तक पहुंच गया और 4 फीसदी से अधिक तेजी के साथ बंद हुआ। पिछले छह महीनों में यह 80 फीसदी चढ़ चुका है जिससे निवेशकों की मोटी कमाई हुई है। शुक्रवार को भी इसमें तेजी आने की संभावना है। भारतीय दवा कंपनियों में पहले रेमडे‎सवीर, टॉ‎क्लनिमुम्ब जैसी कोरोना ड्रग्स को बाजार में उतारने की होड़ थी। अब यह होड़ कोविड-19 की वैक्सीन की तरफ मुड़ गई है। इस वैक्सीन का पूरी दुनिया को बेसब्री से इंतजार है। जो भी दवा कंपनी इसे सबसे पहले भारत में लाएगी, उसके कारोबार ने न केवल उछाल आएगा बल्कि उसकी ब्रांड इक्विटी भी बढ़ेगी। स्पूत‎निक वी वैक्सीन अगर सफल रहती है तो इससे डीआरएल को काफी फायदा होगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: