October 31, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राज्यसभा में शिवसेना सांसद संजय राउत का तंज

नई दिल्ली:- संसद का मानसून सत्र जारी है। चौथे दिन राज्यसभा में विभिन्न राजनीतिक दलों के सांसदों ने कोरोना महामारी से सामूहिक रूप से निपटने और परस्पर दोषारोपण से बचने पर जोर दिया। इस दौरान आम आदमी पार्टी ने जहां भाजपा शासित कई राज्यों में इस महामारी के दौरान घोटाला होने का आरोप लगया वहीं, शिवसेना सांसद ने महाराष्ट्र सरकार की पीठ थपथपाई। शिवसेना सदस्य संजय राउत ने कहा कि हमने कभी नहीं सोचा था कि ऐसी महामारी आएगी। उन्होंने कहा कि जिसके परिवार का कोई सदस्य इस बीमारी से पीड़ित हुआ है, उसका दुख समझा जा सकता है। उन्होंने कहा कि उनकी मां और छोटा भाई भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और आईसीयू में हैं। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जनता के बीच जाने की जरूरत होती ही है। राउत ने कहा कि यह राजनीतिक लड़ाई नहीं बल्कि जिंदगी बचाने की लड़ाई है। इसमें हमें परस्पर दोषारोपण से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संकट के दौरान भी महाराष्ट्र सरकार की निंदा व खिंचाई की गयी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री और पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान की इसी बीमारी के कारण मौत हो गयी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के ही एक नेता ने दावा किया था कि वहां अव्यवस्था के कारण चेतन चौहान की मौत हो गयी। राउत ने कहा कि धारावी जैसे बड़े क्षेत्र में हमने काफी हद तक संक्रमण पर काबू पा लिया है। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी नगर निकाय बीएमसी की पीठ थपथपायी है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की आलोचना करने वाले लोगों को समझना चाहिए कि बड़ी संख्या में वहां लोग ठीक भी हुए हैं। अपने संबोधन के दौरान राज्यसभा में उन्होंने कहा मैं सदस्यों से पूछना चाहता हूं कि इतने लोग कैसे ठीक हुए क्या लोग भाभी जी के पापड़ खाकर ठीक हो गए यह कोई राजनीतिक लड़ाई नहीं है बल्कि लोगों का जीवन बचाने की लड़ाई है।

Recent Posts

%d bloggers like this: