September 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार के लिए पीएम मोदी की सौगात, 18 सितंबर को शुरू करेंगे 13 रेल परियोजनाएं

ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु राष्ट्र को करेंगे समर्पित, बनाने में आया है 516 करोड़ का खर्च

पटना:- बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बिहार की दशा-दिशा बदलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कर रहे हैं। इसी कड़ी में पीएम 18 सितंबर 2020 की दोपहर 12 बजे ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु राष्ट्र को समर्पित करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये इस पुल का उद्घाटन किया जाएगा। महासेतु के शुरू होने से आसपास के क्षेत्र के लोगों का उत्तरपूर्वी क्षेत्रों के साथ संपर्क काफी आसान हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि 1887 में निरमाली और भापतियही (सरायगढ़) के बीच मीटर गेज का निर्माण किया गया था। भारी बाढ़ और 1934 में आए विनाशकारी भूंकप से यह रेल लिंक बह गया। बाद में कोसी नदी में बाढ़ के प्रकोप को देखते हुए दोबारा इस पुल को बनाने की कोशिश ही नहीं की गई। भारत सरकार ने साल 2003-04 को कोसी मेगा ब्रिज प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी थी। इस 1.9 किमी लंबे महासेतु को बनाने में 516 करोड़ रुपये का खर्च आया है। इस पुल से नेपाल सीमा पर भारत की स्थिति मजबूत होगी।
कोरोना के कारण लगाए गए लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर दिनरात मेहनत कर इस पुल को बनाने में जुटे थे। शुक्रवार को पीएम मोदी इसके अलावा रेलवे की 12 दूसरी परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे। इनमें किउल नदी पर पुल, दो नई रेलवे लाइंस, मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी, कटिहार-न्यू जलपाईगुडी, समस्तीपुर-दरभंगा-जयनगर, समस्तीपुर-खगडिया और भागलपुर-शिवनारायणपुर 5 इलेक्ट्रिफिकेशन प्रोजेक्‍ट, एक इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव शेड की परियोजना, बारा-बख्तियारपुर के बीच तीसरी रेलवे लाइन परियोजना शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 सितंबर को ही सुपौल स्टेशन से सहरसा-असनपुर कुफा डेमो ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। जब ट्रेनों का सामान्य परिचालन शुरू होगा तो इस ट्रेन को नियमित समय-सारणी से चलाया जाएगा। इस ट्रेन के चलने से सुपौल-अररिया और सहरसा जिलों में रहने वालों को सीधा फायदा होगा। यहीं नहीं इस क्षेत्र के लोगों के लिए दिल्ली, मुंबई और कोलकाता तक जाने के लिए कनेक्टिंग ट्रेन लेना भी आसान हो जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: