September 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चुनाव आयोग के सख्त निर्देश- चुनावी बैठकों में 100 से ज्यादा लोग नहीं होंगे शामिल

पटना:- बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव की सरगर्मी के बीच चुनाव आयोग ने चुनाव तैयारियों को लेकर दिल्ली रवाना होने से पहले प्रदेश मुख्य सचिव के साथ आला अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद आयोग ने कोरोना काल को देखते हुए चुनाव तैयारियों को बेहतर बताया और इसको लेकर कई नये दिशा-निर्देश जारी किए। इसके तहत चुनावी मीटिंग्स में सौ से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं हो सकेंगे। बिना मास्क के कोई भी प्रक्रिया नहीं किए जाने को लेकर भी आयोग ने निर्देश दिए। आयोग की ओर से कहा गया कि कोरोना को लेकर केंद्र व राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन प्रत्येक स्तर पर किया जाए।
आयोग की तरफ से मतदान बूथों पर सोशल डिस्टेंसिंग के सख्ती से हो पालन करने, जहां महिला वोटरों की संख्या कम हो वहां ये संख्या बढ़ाने, कैम्प लगाकर पुरुष व महिला वोटरों का अनुपात ठीक करने, वापस आये मजदूरों को शत-प्रतिशत वोटर बनाने, दिव्यांग वोटरों की सहभगिता सौ प्रतिशत करने, कोरोना को देखते हुए क्राउड मैनेजमेंट हो बेहतर करने और पर्याप्त संख्या में निर्वाचनकर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। राज्य सरकार की ओर से स्वास्थ्य सचिव प्रत्यय अमृत ने तैयारियों की विस्तार से जानकारी दी। इसमें कहा गया कि स्वास्थ्य विभाग ने गाइडलाइन के अनुसार तैयारी की मुकम्मल व्यवस्था की है। पर्याप्त संख्या में मास्क, सेनेटाइजर व निर्वाचनकर्मियों के लिए कोरोना से बचाव को लेकर आवश्यक किट के प्रबंध को लेकर कार्रवाई की जा रही है।
चुनाव आयोग की टीम की बैठक खत्म होने के बाद बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि चुनाव को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसमें कोरोना गाइडलाइन को देखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। चुनाव में अतिरिक्त पुलिसबल की मांग की गई है ताकि बिहार में इस बार पूरी तरह शांतिपूर्ण चुनाव हो सके। चुनाव तैयारियों की सभी पहलुओं पर चर्चा की गई है। बता दें कि चुनाव आयोग की उच्च स्तरीय टीम में शामिल उप निर्वाचन आयुक्त चंद्रभूषण कुमार व उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन ने दो दिवसीय दौरे के क्रम में मंगलवार को भागलपुर एवं बोधगया में 19 जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी एवं जिला पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक की। इसके बाद शाम में पटना लौटकर मुख्य सचिवालय स्थित सभागार में बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार एवं विभिन्न विभागों के प्रधान सचिव/सचिव के साथ उच्च स्तरीय बैठक की।

Recent Posts

%d bloggers like this: