September 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

29 से 31 अगस्त के बीच भी झड़प में हुई थी फायरिंग

नई दिल्ली:- भारत और चीन के बीच लद्दाख एलएसी पर तनाव अभी बरकरार है। सीमा पर चीन की गतिविधियां फिर बढ़ गईं हैं जिस पर भारत नजर रखे हुए है। पैंगोंग बैंक में जब भारतीय सेना ने साउथ बैंक इलाके में अपनी मौजूदगी बढ़ाई तो चीन ने नॉर्थ बैंक पर हलचल तेज कर दी। लेकिन वो किसी भी तरह की चाल चलने में सफल नहीं हो सका। सेना के अफसरों की मानें तो 7-8 सितंबर के बीच भारतीय सेना ने अब साउथ बैंक से लेकर नॉर्थ बैंक तक अपनी मौजूदगी को बढ़ा दिया है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने कई इलाकों में भारतीय पोजिशन में घुसपैठ की कोशिश की। इस दौरान उन्हें रोकने की कोशिश की गई, इस दौरान कुछ वार्निंग शॉट भी दागे गए। सूत्रों के मुताबिक, 29 से 31 अगस्त के बीच जो झड़प और घुसपैठ की कोशिश हुई थी, तब भी पैंगोंग लेक के दक्षिणी छोर पर फायरिंग हुई थी। तब भारतीय सेना ने चीन को घुसपैठ करने से रोका था। तब भी हालांकि वार्निंग शॉट ही थे। इस दौरान हल्की मशीन गन और असॉल्ट रायफल का इस्तेमाल किया गया था। इसके बाद भी बॉर्डर पर वार्निंग शॉट की कुछ घटनाएं सामने आई थीं। आपको बता दें कि मई के बाद से तनाव की स्थिति बरकरार है। लेकिन अगस्त के आखिरी हफ्ते में फायरिंग की घटना ने माहौल को बिगाड़ दिया। मंगलवार को ही लोकसभा में राजनाथ सिंह ने इस पूरे मसले पर बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि चीन ने समझौतों का उल्लंघन करते हुई सीमा पर जवानों की संख्या को बढ़ाया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बयान में कहा कि भारत इस मसले को शांति और बातचीत के जरिए सुलझाना चाहता है। लेकिन भारत की सेनाएं किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार हैं। राजनाथ की ओर से कहा गया कि चीन ने बार-बार समझौतों का उल्लंघन किया है। बता दें कि भारतीय सेनाओं ने लॉन्ग हॉल की तैयारी कर ली है और अब सीमा पर सर्दियों के लिए सामान जुट रहा है। लगातार टेंट, कपड़े और राशन को सीमा पर भेजा जा रहा है, ताकि बर्फबारी से पहले सारी व्यवस्था कर ली जाए।

Recent Posts

%d bloggers like this: