September 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हाथियों का उत्पात बदस्तूर जारी, ग्रामीण दहशत में

सिमरिया:- प्रखंड क्षेत्र के इलाकों में विगत कई दिनों से जंगली हाथियों का उत्पात व भृमण बदस्तूर जारी है। जिससे अब तक सैकड़ों एकड़ में लगे धान, मकई, उरद, अरहर एवं अन्य फसलों को जंगली हाथियों द्वारा रौंदा व नुकशान किया जा रहा है। जंगली हाथियों के उत्पात से किसानों की कमर टूट रही है और किसान काफी दहशत में हैं। जंगली हाथियों का एक झुंड है जिसमें छोटे बच्चे भी शामिल हैं। जंगली हाथियों द्वारा कभी कटिया मुर्बे, तो कभी शीला, आमगांवा, केन्दु, कसारी तो कभी काशीयातु के इलाकों में बदस्तूर उत्पात मचाया जा रहा है। इस दौरान सोमवार की रात्री कसारी पंचायत के काशियातु में जंगली हांथीयों ने उत्पात मचा कर लगे फसलों को रौंद डाला। जिस के संबंध में ग्रामीणों का कहना है कि जंगली हाथियों का झुंड इसी इर्द-गिर्द इलाके के जंगलों में ही रह रहा है। जो रात होते ही लगे फसलों को बर्बाद करने के लिए जंगलों से निकल आते हैं और दिन में जंगलों की ओर भाग जाते हैं। जंगली हाथियों पर वन विभाग द्वारा अंकुश लगाने का सार्थक पहल नहीं किया गया तो फसलों के साथ-साथ जान माल का भी खतरा हो सकता है। जंगली हाथियों द्वारा बर्बाद किए गए फैसलों का मुआवजा को लेकर ग्रामीणों ने अंचल कार्यालय से गुहार लगाया है। हाथों द्वारा बर्बाद किए गए फसल में संतोष गंझू, कुलेश्वर उरांव, फुल देव उरांव, धनेश्वर उरांव, दिनेश्वर उरांव, विजय उरांव, महेश उरांव, दशरथ उरांव, कौलेश्वर उरांव, समलाल उरांव, शुक्र उरांव, हरी उरांव, राजेश उरांव के साथ अन्य ग्रामीणों का नाम शामिल है।

मोकिम अंसारी

Recent Posts

%d bloggers like this: