September 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पश्चिम बंगाल में पुजारियों को मिलेगा एक हजार रुपए मासिक भत्ता और आवास : ममता बनर्जी

कोलकाता:- अपनी हिंदू विरोधी छवि तोड़ने के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के 8,000 से अधिक हिंदू पुजारियों के लिए 1,000 रुपए मासिक वित्तीय सहायता और मुफ्त आवास देने की घोषणा की है। राज्य में अगले वर्ष अप्रैल-मई में चुनाव होने की संभावना है। राज्य के हिंदी भाषी और आदिवासी मतदाताओं को ध्यान में रखते हुए बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार ने एक हिंदी अकादमी और एक दलित साहित्य अकादमी स्थापित करने का निर्णय लिया है।
उन्होंने यह घोषणा हिंदी दिवस के दिन की जो हिंदी को देश की आधिकारिक के तौर पर अपनाने की याद में प्रतिवर्ष मनाया जाता है। बनर्जी ने कहा हमने पहले सनातन ब्राह्मण संप्रदाय को कोलाघाट में एक अकादमी स्थापित करने के लिए भूमि प्रदान की थी। इस संप्रदाय के कई पुजारी आर्थिक रूप से कमजोर हैं। हमने उन्हें प्रतिमाह 1,000 रुपए का भत्ता प्रदान करने और राज्य सरकार की आवासीय योजना के तहत मुफ्त आवास प्रदान करके उनकी मदद करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, मैं आप सभी से अनुरोध करती हूं कि इस घोषणा का अन्य कोई मतलब नहीं निकालें। यह ब्राह्मण पुजारियों की मदद करने के लिए किया जा रहा है। उन्हें अगले महीने से भत्ता मिलना शुरू हो जाएगा क्योंकि यह दुर्गा पूजा का समय है।
उल्लेखनीय है कि ममता बैनर्जी ने ये घोषणाएं भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा आरोप लगाने के एक सप्ताह के की हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सरकार की मानसिकता हिंदू विरोधी है और वह अल्पसंख्यक तुष्टिकरण नीति अपना रही है। पश्चिम बंगाल कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने भी राज्य सरकार पर अल्पसंख्यकों के तुष्टिकरण का आरोप लगाया है। 2011 में तृणमूल कांग्रेस को सत्ता में आने के बाद तब आलोचना का सामना करना पड़ा था जब उसने इमामों के लिए मासिक भत्ते की घोषणा की थी।

Recent Posts

%d bloggers like this: