September 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कविता-संग्रह का हुआ विमोचन, बागडोगरा हवाई अड्डा में हिंदी पखवाड़ा का डॉ. सजल ने किया उद्घाटन

किशनगंज:- भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण अंर्तगत बागडोगरा हवाई अड्डा प्रशासन द्वारा आयोजित हिंदी पखवाड़ा का उद्घाटन, मुख्य अतिथि मारवाड़ी कॉलेज, किशनगंज के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. सजल प्रसाद ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
मंगलवार को समारोह की अध्यक्षता कर रहे बागडोगरा विमानपत्तन निदेशक सुब्रमणि पी. ने इस अवसर पर डॉ. प्रसाद की सद्यः प्रकाशित कविता-पुस्तक “फुनगी पर अटकी पतंग” का लोकार्पण भी किया।
डॉ. सजल ने कहा कि हिंदी अपने दम पर आगे बढ़ रही है और अब भारतीय बाजार की यह जरूरत बन चुकी है। हिंदी उदार है और वह विदेशज शब्दों को सहजता से स्वीकार कर अपना प्रचार-प्रसार कर रही है। नई शिक्षा नीति से हिंदी के साथ-साथ अन्य भारतीय भाषाओं व बोलियों का संवर्द्धन हो सकेगा।
उन्होंने कहा कि हिंदी बोलने वालों की आबादी देश में सर्वाधिक है और अब दक्षिण के राज्यों में भी हिंदीं की स्वीकार्यता बढ़ी है। सोशल मीडिया और फिल्मों ने भी हिंदी को आगे बढ़ाया है। पर, रोमन लिपि की बजाय देवनागरी लिपि में हिंदी लिखी जानी चाहिए।
विमानपत्तन निदेशक ने डॉ. सजल की पुस्तक ‘चाहत की सिन्दूरी शाम’ का विमोचन करते हुए कहा कि कवि की यह चौथी पुस्तक है और वे आशा करते हैं कि उनकी और भी कई पुस्तकें प्रकाशित होंगी। सिलीगुड़ी अंतर्गत बागडोगरा के बांग्लाभाषी क्षेत्र में हिंदी की पुस्तक का विमोचन होना भी शुभ संकेत है। कोविड 19 के प्रकोप के कारण वर्चुअल रूप में उद्घाटन समारोह हुआ। इस अवसर पर नोडल राजभाषा अधिकारी जीन स्मिता मुंडू ने स्वागत भाषण किया। अधीक्षक, मानव संसाधन वीरेंद्र चौधरी ने संचालन किया। पर्यवेक्षक ,मानव संसाधन विश्वजीत कुमार एवं हिमाद्रि दास उपस्थित रहे।

संवाददाता सुबोध

Recent Posts

%d bloggers like this: