September 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

वकील की मौत मामले में बिहार पुलिस नहीं दिखा रही दिलचस्पी

पटना:- नौबतपुर के अलीपुर के रहने वाले पटना सिविल कोर्ट के वकील हरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में पटना पुलिस एक नामजद आरोपी संतोष कुमार को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई करने में दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। इसका असर वकील के परिवार पर पड़ रहा है। दरअसल, 8 सितंबर को वकील की हत्या नौबतपुर थाना इलाके में सरारी सूर्य मंदिर के पास 2 शूटरों ने की थी, लेकिन घटना के 6 दिन गुजर जाने के बाद भी पुलिस इन दोनों शूटरों की पहचान नहीं कर सकी है। हालांकि पुलिस ने हत्या में शामिल संतोष को जेल भेजने से पहले इन दोनों शूटरों के बारे में सख्ती से पूछताछ की पर उसने कोई ठोस सुराग नहीं दिया। मृतक वकील के छोटे बेटे पिंटू ने बताया कि पिताजी की हत्या के बाद पूरा परिवार सहमा हुआ है। देर रात शूटर व अपराधी बाइक से घर से दूर चक्कर लगाते रहते हैं पर पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती है। भोला शर्मा व उसका एक और बेटा खुशवंत कुमार को भी पुलिस गिरफ्तार करने में अब तक नाकाम है। हम लोगों के साथ किस वक्त क्या हो जाए कहना मुश्किल है। पिंटू ने कहा कि रविवार कों हत्या के खिलाफ कैंडल मार्च भी हुआ पर इसका भी पुलिस पर कोई असर नहीं हुआ। बता दें कि वकील हरेंद्र सिंह की हत्याकांड की जांच करने के लिए घटना के दूसरे दिन पटना एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा भी मौका ए वारदात पर गए थे। उन्होंने थानेदार दीपक सम्राट को मामले की जांच कर हत्यारों को गिरफ्तार करने का आदेश भी दिया था। इस मामले में नामजद संतोष के पिता कुलशेखा शर्मा उर्फ भोला शर्मा और उसके भाई खुशवंत कुमार को भी गिरफ्तार नहीं कर सकी। इस संबंध में वकील के बड़े बेटे पेशे से वकील सुभाष कुमार ने भोला शर्मा, उसके दोनों बेटों संतोष व खुशवंत के अलावा उसकी पत्नी प्रभावती देवी, दो बेटियों कुमुद व सुमुद व दो अज्ञात शूटरों के खिलाफ नौबतपुर थाना में केस दर्ज करवाया था। पुलिस प्रभावती व उसकी एक बेटी को घटना के बाद हिरासत में लिया था। मां-बेटी से पुलिस ने पूछताछ की थी पर छोड़ दिया था। इधर, थानेदार दीपक सम्राट ने कहा कि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी करने में जुटी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: