October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आत्मनिर्भर भारत निर्माण के लिए प्रवासी श्रमिक बेगूसराय में बनाएंगे एलईडी लाइट

बेगूसराय:- कोरोना से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर सरकार ने आत्मनिर्भर भारत और आत्मनिर्भर बिहार योजना शुरू किया। सरकार की कोशिश है की परदेस में रहने वाले श्रमिक अब फिर दूसरे राज्य जाने के बदले अपने बिहार में ही रहकर रोजगार करें, उन्हें काम मिले। इस योजना को लेकर कई स्तर पर कार्य हो रहा है। यहां काम नहीं मिलने की बात कह कर परदेस जाने का सिलसिला भी तेज हो गया है। लेकिन परदेस के लोग अब भी अपने घर वापस लौट रहे हैं। अब परदेस से लौटने वाले एक नई आशा और उम्मीद लेकर यहां उद्योग-धंधे शुरू करने का निश्चय कर चुके हैं। शासन-प्रशासन भी इसमें सहयोग कर रही है। कोरोना से उपजे आर्थिक संकट के दौर में लोकल को भोकल करने और ग्लोबल मार्केट का फायदा लेने के लिए आत्मनिर्भरता का सूत्र कितना कारगर होगा यह तो आने वाला समय ही बतायेगा। लेकिन इतना तय है कि कभी बिहार की औद्योगिक राजधानी रही बेगूसराय एक बार फिर उद्योग का हब बनेगा। केंद्र सरकार द्वारा बरौनी रिफाइनरी में जब पेट्रोकेमिकल की स्थापना का मार्ग प्रशस्त कर दिया गया है। पेट्रोकेमिकल शुरू होने के बाद यहां होने वाले प्लास्टिक उद्योगों की श्रृंखला को देख कई तरह के उद्योग शुरू करने का निश्चय कर कामगार लौट रहे हैं। इसी कड़ी में अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो बेगूसराय में उच्च गुणवत्ता के एलईडी लाइट का निर्माण बहुत जल्द शुरू हो जाएगा। सोमवार को असम के डिगबोई से लौटे विवेकानंद राय, सोहन राय, हर्ष राय एवं मनोज ने बेगूसराय स्टेशन पर बताया कि वे लोग वहां एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट, कलर एलईडी लाइट निर्माण कार्य में लगे हुए थे। आज के दौर में सब लोग बिजली बचाना चाहते हैं, इसके लिए एलईडी का इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन सभी जगह पर गुणवत्ता वाले लाइट का निर्माण नहीं हो रहा है। हम लोगों ने तीन महीने का प्रशिक्षण लिया, उसके बाद वहां काम कर रहे थे। अब पता चला है कि अपने बिहार को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत सरकार एवं बिहार सरकार बड़े पैमाने पर सहयोग कर रही है तो हम लोगों ने भी परदेस में रहने की आस छोड़ दी है। आठ से दस लाख में एलईडी लाइट निर्माण का उद्योग शुरू किया जा सकता है। हम चार लोगों की टोली ग्रुप बनाकर प्रधानमंत्री रोजगार सृजन अभियान के तहत यहां एलईडी लाइट बनाना शुरू करेंगे। एलईडी बनाने में उपयोग किया जाने वाला मशिनरी कॉम्पोनेन्ट फोर्मिंग, सोल्डरिंग मशीन, डिजिटल मल्टीमीटर, टेस्टर, सीलिंग मशीन, एलसीआर मीटर, स्माल ड्रिलिंग और लक्स मीटर कहां मिलेगा इसकी पूरी जानकारी है। इसके अलावा रॉ मैटेरियल लेड चिप्स, रेक्टिफिएर मशीन, हीट सिंक डिवाइस, मेटलिक कैप होल्डर, प्लास्टिक बॉडी, रिफ्लेक्टर प्लास्टिक ग्लास, कनेक्टिंग वायर तथा सोल्डरिंग फ्लक्स सप्लाई करने वालोंं से बात हो चुकी है। अब यहां उद्योग विभाग से बात कर लोन लेनाा है अगर लोन मिल गया तोो ठीक नहीं तो हम चारों स्थानीय स्तर पर कर्ज लेकर यह उद्योग शुरू करेंगे और अपने परिवार और समाज को आत्मनिर्भर बनाएंगे। क्योंकि सब कुछ सिर्फ सरकार के भरोसेे ही नहीं हो सकता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: