October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चिराग पासवान बोले- बिहार चुनाव में सीटों को लेकर कोई झगड़ा नहीं

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व पर पूरा भरोसा, बीजेपी जो भी फैसला लेगी, मानेंगे

बीजपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के पटना में पहुंचते ही नरम हुए एलजेपी के शुर

पटना:- बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के बिहार दौरे के बाद लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को कहा कि बीजेपी जो भी फैसला लेगी, वह उसे मानेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर पूरा भरोसा है। एलजेपी पीएम मोदी की वजह से ही गठबंधन में है। जेडीयू पर जुबानी हमले के सवाल पर चिराग ने कहा कि मैं जनप्रतिनिधि का दायित्व निभा रहा हूं। उन्होंने कहा कि जेडीयू को टेंशन देने की उनकी कोई मंशा नहीं है। चिराग ने कहा कि किसी को क्यों टेंशन हो रही है यह मेरी समझ से परे है। मैं सिर्फ अपनी बातों को रख रहा हूं। हाल फिलहाल में ही मैंने पूरे बिहार का भ्रमण किया है। उस दौरान मुझे जो-जो समस्याएं दिखी मैंने उनसब से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। वो सीएम हैं, मैं उनके सामने अपनी बात नहीं रखूंगा तो कहां रखूंगा। चिराग ने कहा कि बीजेपी पहले ही कह चुकी है कि सीएम नीतीश कुमार गठबंधन का नेतृत्व करेंगे। मैंने हमेशा कहा है कि बीजेपी जो भी फैसला लेगी मैं उनके साथ हूं। मेरा पूरा विश्वास है कि आगे जो कुछ भी होगा वह बिहार के हित में होगा। चिराग ने कहा कि एलजेपी के किसी भी नेता की जेडीयू या बीजेपी के किसी नेता के साथ सीट शेयरिंग को लेकर कोई बात नहीं हुई है। मेरी लड़ाई सीटों को लेकर है ही नहीं। चिराग के बयान पर जेडीयू ने कहा कि हमारी गठबंधन पर जनता ने भरोसा किया है। बिहार के मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी, जेडीयू और एलजेपी ने साथ मिलकर अच्छा प्रदर्शन किया था। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, सांसद ललन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के बीच करीब 55 मिनट चले मंथन में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सीट शेयरिंग और चुनावी रणनीति पर बात हुई है। सूत्रों का कहना है कि जेडीयू और बीजेपी के अध्यक्ष ने मिलकर एलजेपी को लेकर मामला सुलझा लिया है। सूत्रों का कहना है कि नड्डा और नीतीश की मुलाकात में तय हुआ है कि चिराग को संतुष्ट करने की जिम्मेवारी बीजेपी उठाएगी। दरअसल, चिराग पासवान विधानसभा की 43 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारना चाहते हैं। गठबंधन में प्रेशर बनाए रखने के लिए चिराग मुख्यमंत्री नीतीश पर हमलावर हैं। माना जा रहा है कि जेडीयू और बीजेपी दोनों 2019 के लोकसभा चुनाव वाले विनिंग कॉम्बिनेशन से छेड़छाड़ करने के मूड में नहीं हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: