October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ट्रंप ने कोरोना के खतरे को जानबूझकर कम तवज्जों दी, अमेरिकी पत्रकार की किताब में खुलासा

वाशिंगटन:- कोविड-19 के कहर से जूझ रहे अमेरिका में ट्रंप प्रशासन के इस महामारी को हल्के में लेने के मामले में यहां के एक प्रसिद्ध पत्रकार की नई किताब में बड़ा खुलासा किया गया है। देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यह स्वीकार किया कि उन्होंने घातक कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को सार्वजनिक तौर पर इसलिए तवज्जो नहीं दी, क्योंकि वह लोगों में घबराहट पैदा नहीं करना चाहते थे। खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की किताब ‘रेज’ 15 सितंबर से दुकानों पर उपलब्ध होगी। वुडवर्ड ने इस किताब के कुछ अंश और ट्रम्प के साक्षात्कार के कुछ हिस्से जारी किए। पत्रकार ने एक रिकॉर्डिंग उपलब्ध कराई है, जिसके अनुसार ट्रम्प ने मार्च में बुडवर्ड से कहा था, ‘मैं हमेशा इसे कम महत्व देना चाहता था। मैं अब भी इसे तवज्जो नहीं देना चाहता, क्योंकि मैं लोगों में घबराहट पैदा नहीं करना चाहता।’
ट्रम्प ने सात फरवरी को एक अन्य साक्षात्कार में पत्रकारों से कहा था कि कोरोना वायरस बहुत घातक फ्लू है और यह हवा से भी फैल सकता है। किताब के अनुसार, ट्रम्प ने वुडवर्ड से कहा था कि वह कोविड-19 वैश्विक महामारी और आर्थिक संकट से अवश्य जीतेंगे। ट्रम्प ने महामारी के खतरों को सार्वजनिक तौर पर तवज्जो नहीं देने के अपने फैसले का बचाव किया और लोगों से झूठ बोलने के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वह नहीं चाहते थे कि उनके देश के लोग घबरा जाएं। इस बीच, ट्रम्प के साक्षात्कार के अंश देरी से जारी करने के कारण आलोचनाओं का शिकार हो रहे वुडवर्ड ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए समय चाहिए था कि ट्रम्प ने जो टिप्पणियां की थीं, वह सही थीं।

Recent Posts

%d bloggers like this: