October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अमेरिकी चुनाव में भाजपा का नाम सामने आने के बाद पार्टी सख्त, सदस्यों से तटतस्थ रहने को कहा

वॉशिंगटन:- अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा का नाम सामने आने के बाद पार्टी ने सख्ती से अपने सदस्यों को तटतस्थ रहने को कहा है। दरअसल भाजपा अमेरिकी चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप का समर्थन कर रही है? इस तरह से बहुत से सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी वहां रहने वाले भारतीय समुदाय के वोटरों को लुभाने के लिए अपने चुनावी अभियान में ‘हाउडी मोदी’ और ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम के वीडियो इस्तेमाल कर रही है। इस वीडियो के जरिए डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच की मजबूत दोस्ती को दिखाया जा रहा।
मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नाम सामने आने के बाद पार्टी सख्त नजर आ रही है। भाजपा ने पार्टी के अमेरिकी सदस्यों को स्पष्ट तौर पर समझाया है कि वो रिपब्लिकन या डेमोक्रेटिक पार्टी का प्रचार व्यक्तिगत तौर पर करें और इसमें भाजपा का नाम आधिकारिक तौर पर इस्तेमाल न किया जाए।
भाजपा के विदेश मामलों के विभाग के प्रभारी विजय चौथवाले ने इस मामले में ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ भाजपा के अमेरिकी चैप्टर को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने किसी भी अमेरिकी पार्टी के लिए भाजपा का नाम आधिकारिक तौर पर इस्तेमाल करने से साफ शब्दों में मना किया है। हालांकि, भाजपा ने यह भी कहा कि यह हर नागरिक का अधिकार कि वह अपने देश की चुनावी प्रक्रिया में हिस्सा ले और ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ भाजपा के सभी सदस्य भी चुनाव प्रक्रिया में व्यक्तिगत तौर पर हिस्सा ले सकते हैं। विजय चौथवाले ने साफ कर दिया कि भाजपा की अमेरिकी चुनाव में कोई भूमिका नहीं है।
कमला हैरिस से जुड़े सवाल पर विजय चौथवाले ने कहा कि यह खुशी की बात है कि भारत से जुड़ा हुआ कोई व्यक्ति अमेरिका के दूसरे सबसे बड़े पद के लिए चुनाव लड़ रहा है लेकिन भाजपा किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करती है। गौरतलब है कि अमेरिकी चुनाव में कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हैं। भारतीय मूल की कमला हैरिस का जन्म कैलिफोर्निया के ऑकलैंड में 20 अक्टूबर, 1964 को हुआ था। उनकी मां श्यामला गोपालन भारत के तमिलनाडु से अमेरिका आई थीं, जबकि उनके पिता डोनाल्ड जे हैरिस जमैका से अमेरिका आए थे। फिलहाल कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हैं।
हाल ही में जब डोनाल्ड ट्रंप से चुनावी अभियान को लेकर सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि हमें भारत का समर्थन प्राप्त है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हमे समर्थन मिला है। ऐसे में मुझे उम्मीद है कि भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक मुझे जरूर वोट देंगे। हालांकि, विजय चौथवाले का मानना है कि किसी भी देश का चुनाव उनका अपना घरेलू मामला होता है। ऐसे में इस चुनावी प्रक्रिया में भाजपा की कोई भूमिका नहीं है।

Recent Posts

%d bloggers like this: