October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आलू के बाद प्याज की कीमतों में तेजी

नई दिल्ली:- कोरोना संकट में आम आदमी की मुश्किलें रोजाना बढ़ती जा रही है। दै‎निक उपयोग की वस्तुओं के बाद अब सब्जियों :की कीमतें भी सातवें आसमान पर पहुंच गई है। रिटेल में 15-20 रुपए प्रति किलोग्राम बिकने वाली प्याज की कीमतें अब 35-45 रुपए प्रति किलोग्राम हो गई है। कारोबारियों का कहना है कि आलू के बाद अब प्याज की कीमतों में तेजी आ रही है। इसकी वजह प्याज की फसल का खराब होना है। दरअसल, कर्नाटक में भारी बारिश की वजह से फसल को नुकसान हुआ है। इसी वजह से उत्तर भारत समेत कई इलाकों में आवक घट गई है। हालांकि अगले 15 दिन तक प्याज की कीमतों में कमी की उम्मीद नहीं है। जानकारी के मुताबिक प्याज की थोक मंडियों में 8 अगस्त के बाद से प्याज की कीमतों में लगातार तेजी आ रही है। इस दौरान कीमतें बढ़कर 2500 रुपए प्रति क्विंटल हो गई है। प्याज का उत्पादन मुख्यत: छह राज्यों में होता है। 50 प्रतिशत प्याज भारत की 10 मंडियों से ही आता है। इनमें से छह महाराष्ट्र और कर्नाटक में हैं। इसका मतलब हुआ कि कुछ सौ व्यापारियों के हाथ में 50 प्रतिशत प्याज की कीमतें रहती हैं। ये व्यापारी अपने तरीकों से प्याज की कीमतों को प्रभावित कर सकते हैं। साथ ही प्याज का कोई न्यूनतम समर्थन मूल्य तय नहीं है।

Recent Posts

%d bloggers like this: