October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बुद्धेश्वर हत्याकांड का उद्भेदन, बाप,सौतेली मां और सौतेला भाई ने सुपारी देकर करायी बुद्धेश्वर की हत्या

75 हजार रू. लेकर बुधेश्वर की हत्या करने वाले मो.हबीबुल्लाह अंसारी व इरशाद अंसारी भी गिरफ्तार

गुमला:- भरनो थाना क्षेत्र के मकरा गांव के 23 वर्षीय बुद्धेश्वर उरांव का शव सियांग बांसटोली गांव स्थित एक कुएं से बरामद होते ही इस हत्याकांड का पटाक्षेप हो गया। इस मामले को लेकर गुमला के पुलिस अधीक्षक हरदीप पी.जनार्दनन ने अपने कार्यालय परिसर में प्रेस कांफ्रेंस में इस हत्याकांड का खुलासा किया। इसके पूर्व किसी को इस बात की भनक तक नहीं लगी कि बुद्धेश्वर को जन्म देने वाले पिता बिरसा उरांव, सौतेली मां मगरी देवी और सौतेले भाई परमेश्वर उरांव ने अपने ही सगे बुद्धेश्वर उरांव की हत्या सुपारी देकर करायी है। एसपी श्री जनार्दनन ने बताया कि 6 सितंबर को शुकेश्वर उरांव पिता बिरसु उरांव ग्राम मकरा ने थाना भरनो में अपने बड़े भाई बुद्धेश्वर उरांव का अज्ञात अपराधियों द्वारा अपहरण किये जाने की प्राथमिकी ( थाना कांड सं.32 /2020 दिनांक 6-9-20, धारा 458,364 /34 भादवि) दर्ज करायी थी। हत्याकांड के उद्भेदन व अपहृत की बरामदगी हेतु उनके निर्देश पर एक टीम का गठन कर अनुसंधान शुरू किया गया ।_

*_अनुसंधान के क्रम में अपहृत के पिता बिरसु उरांव,सौतेली मां मंगरी उराईन व सौतेला भाई परमेश्वर उरांव की संलिप्तता प्रकाश में आयी। तीनों को थाना में बुलाकर पुछताछ की गयी तो तीनों ने सबकुछ उगल दिया। बिरसु उरांव ने बताया कि अपहृत बुद्धेश्वर उरांव उनकी पहली पत्नी का संतान है। वह पैतृक संपति को लेकर विवाद कर रहा था। उसे हमेशा के लिए रास्ते से हटाने के लिए साजिश होने लगी। परमेश्वर उरांव ने अपने कॉलेज के चार साथियों सुले उरांव,सौमे उरांव,कृष्णा उरांव व कार्तिक उरांव को सारी बात बतायी और बुद्धेश्वर उरांव का अपहरण कर हत्या करवाने के लिए 75 हजार रू. का सुपारी दिया। 5 सितंबर की रात में इस साजिश को अमलीजामा पहनाने की जिम्मेवारी हबीबुल्लाह अंसारी,राकिब अंसारी उर्फ रकु,जब्बार अंसारी व वकील अंसारी सभी बघनी गांव को जिम्मेदारी दी गयी। परमेश्वर उरांव,उसके पिता व मां के द्वारा बुद्धेश्वर उरांव की रेकी की गयी। घर के दरवाजों को खुला छोड़ दिया गया। रात में बुद्धेश्वर उरांव का अपहरण कर लिया गया। उसे बांधने के लिए रस्सी भी इन्ही लोगों ने मुहैया करायी। रात करीब साढ़े ग्यारह बजे सभी अपहर्ताओं ने बुद्धेश्वर उरांव की गला दबा कर हत्या कर दी।_*

_उसके दोनो हाथ पीछे से बांधने के बाद दो बड़े पत्थर भी बांधने के बाद शव को बुधराम उरांव के खेत स्थित कुएं में डाल दिया गया। बुधवार को बुद्धेश्वर उरांव का शव उक्त कुएं से बरामद करते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। साथ ही मृतक के पिता बिरसु उरांव, सौतेली मां मंगरी देवी, सौतेला भाई परमेश्वर उरांव,हबीबुल्लाह अंसारी व इरशाद अंसारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आरोपी परमेश्वर उरांव के पास से दो मोबाईल व हबीबुल्लाह व इरशाद अंसारी से एक-एक मोबाईल बरामद किया है। पुलिस की इस सफलता में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनीष चन्द्र लाल, सिसई के थाना प्रभारी एस.एन. मंडल,भरनो थाना प्रभारी,परि.पुअनि बालमुकुंद सिंह,परि.पुअनि अनिल लिंडा,परि..पुअनि अभिनव कुमार, पुअनि दिनेश सिंह व दोनो थाना के सशस्त्र बल की सराहनीय भूमिका रही।_

Recent Posts

%d bloggers like this: