October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

एलजेपी के रामा सिंह की आरजेडी में एंट्री से नाराज रघुवंश ने छोड़ा लालू का साथ, भेजा इस्तीफा

पटना:- बिहार विधानसभा चुनाव की सुगहुगाट ने यहां सियासी पारा गर्म कर दिया है ऐसे में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को बड़ा झटका देते हुए पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष रहे रघुवंश प्रसाद सिंह लालू यादव का हाथ छोड़ दिया है। बीमार रघुवंश ने एम्स के बेड से लालू प्रसाद यादव को अपना इस्तीफा भेजा है। रघुवंश प्रसाद सिंह, आरजेडी के उपाध्यक्ष पद से पहले ही इस्तीफा दे चुके थे। लालू प्रसाद यादव को भेजी गई चिट्ठी में रघुवंश प्रसाद सिंह ने लिखा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर के बाद 32 वर्षो तक आपके पीछे खड़ा रहा लेकिन अब नहीं। पार्टी, नेता, कार्यकर्ता और आमजन ने बड़ा स्नेह दिया, लेकिन मुझे क्षमा करें। दरअसल, वैशाली से लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के सांसद रहे रामा सिंह की आरजेडी में एंट्री से रघुवंश प्रसाद सिंह नाराज हैं। रघुवंश प्रसाद का पार्टी छोड़ना लालू प्रसाद यादव के लिए बड़ी क्षति मानी जा सकती है। कहा जा रहा है कि रघुवंश प्रसाद को मनाने की काफी कोशिश हुई, लेकिन वो रामा सिंह को लेकर किसी प्रकार से समझौता करने के मूड में नहीं हैं।
कहा जा रहा है कि तेजस्वी यादव ने पिछला चुनाव वैशाली जिले के राघोपुर विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था और जीत दर्ज की थी, लेकिन अब परिस्थितियां बदल गई हैं। उस चुनाव में जेडीयू महागठबंधन में शामिल था, जबकि इस बार जेडीयू, एनडीए के साथ है। चुनाव में जीत पक्की करने के लिए तेजस्वी यादव, रामा सिंह को आरजेडी में शामिल कराने को लेकर उत्सुक हैं। रामा सिंह ने ऐलान किया था कि वे 29 अगस्त को आरजेडी में शामिल हो जाएंगे, मगर आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के निर्देश के बाद फिलहाल रामा सिंह के पार्टी में शामिल होने पर रोक लगा दी गई है। रघुवंश प्रसाद सिंह और रामा सिंह राजनीति में कट्टर प्रतिद्वंदी माने जाते हैं। इसी बीच लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने भी रघुवंश प्रसाद सिंह के खिलाफ जमकर बयानबाजी करते हुए राष्ट्रीय जनता दल को समंदर और रघुवंश प्रसाद सिंह को एक लोटा पानी बता दिया। तेज प्रताप यादव के इस बयान से नाराज होकर लालू प्रसाद ने उन्हें 2 दिन पहले रांची तलब किया और उनकी जमकर क्लास भी लगाई।

Recent Posts

%d bloggers like this: