October 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार चुनाव में बड़ा सियासी ट्विस्टः ‘लालू की बहू ऐश्वर्या पति तेजप्रताप के खिलाफ लड़ेंगी चुनाव’

पटना:- क्या राबड़ी की बहू उनके बेटे के खिलाफ चुनाव मैदान में उतर रही हैं? क्या ऐश्वर्या सियासी जंग में तेजप्रताप को टक्कर देंगी? ऐसे कई सवाल हैं जो लगातार बिहार के राजनीतिक हलकों में घूम रहे हैं। कयास का दौर भी जारी है, हर कोई इस समीकरण को अपने-अपने चश्मे से देख और बता रहा है। लेकिन इसी बीच ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने बड़ा ऐलान कर दिया है।
ऐश्वर्या को चुनाव लड़ने से नहीं रोकूंगा- चंद्रिका राय
ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने टाइम्स न्यूज नेटवर्क संवाददाता शीजन निजामीसे बातचीत में साफ कहा है कि वो तेजप्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। चंद्रिका राय बात को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि ऐश्वर्या अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है और ऐसी परिस्थिति में वो उसका सपोर्ट करेंगे। चंद्रिका राय के मुताबिक ‘मैं ऐश्वर्या को चुनाव लड़ने से नहीं रोकूंगा चाहें वो जिस सीट पर भी खड़े होने का निर्णय करे।’

‘ऐश्वर्या जल्द ही मीडिया को अपनी योजनाएं बताएंगी’

चंद्रिका राय के मुताबिक ऐश्वर्या जल्द ही मीडिया में आकर अपने प्लान के बारे में बताएंगी। जाहिर है कि ये बयान देकर चंद्रिका राय ने एक तरह से स्पष्ट कर दिया है कि ऐश्वर्या चुनाव लड़ेंगी। क्योंकि सियासत प्लान यानि योजना तभी बनती है जब चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी हो। यानि इस चुनाव में लोगों को ऐश्वर्या और तेजप्रताप की सियासी जंग भी देखने को मिल सकती है, सीट चाहे जो भी हो या जहां भी हो।
हाल ही में ऐश्वर्या के पिता ने थामा नीतीश का तीर
ऐश्वर्या के पिता और पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा राय के बेटे चंद्रिका राय ने हाल ही में RJD छोड़ दी और नीतीश की JDU में शामिल हो गए। इससे पहले चंद्रिका राय ने पार्टी जॉइन करने के बाद कहा कि कहा कि आरजेडी गरीबों की पार्टी नहीं रही है। आज पार्टी पैसों वालों की पार्टी बन गई है। जिन गरीबों ने पार्टी को खड़ा किया आज उनकी बात नहीं सुनी जा रही है। पार्टी ने जो पुराने कार्यकर्ता हैं, उनकी अनदेखी की जा रहा है। आज आरजेडी व्यवसायिक पार्टी बन कर रह गई है। इसलिए हम लोगों ने पार्टी को छोड़ने का फैसला किया। नीतीश ने समाज को आगे बढ़ाने के लिए जिस प्रकार से काम किया है, उससे हम सभी प्रभावित हैं। अब हम लोग नीतीश के नेतृत्व में काम करेंगे।
चंद्रिका राय पहली बार 1985 में विधायक बने थे
चंद्रिका राय का राजनीतिक करियर 1985 में शुरू हुआ। पिता दारोगा राय की तरह कांग्रेस के टिकट पर 1985 में चुनाव लड़े और विधायक बने। 1990 में वे लालू प्रसाद की पार्टी में शामिल हो गए। 2005 और 2010 के चुनाव में चंद्रिका राय को जदयू के छोटेलाल राय ने हरा दिया, लेकिन 2015 में चंद्रिका फिर से जीत गए थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: