October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखना पड़ा महंगा

नई दिल्ली:- उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अभी दो साल का समय है लेकिन कांग्रेस ने इसके लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है। उत्तर प्रदेश का कामकाज देख रही हैं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी की सियासी शतरंज के लिए अपने मोहरे लगाने शुरू कर दिए हैं। सूत्रों के मुताबिक इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश से कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद को घोषणापत्र बनाने वाली टीम के मुखिया की जिम्मेदारी दी गई है। चुनाव को लेकर बन रही नई कमेटियों में प्रियंका गांधी ने राज बब्बर और जतिन प्रसाद जैसे कुछ दिग्गज नेताओं को किनारे कर दिया है। माना जा रहा है कि इन जतिन प्रसाद को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखने की सजा मिली है। वहीं कांग्रेस की विवादित चिट्ठी की निंदा करने वाले नेता निर्मल खत्री और नसीब पठान प्रियंका गांधी की लिस्ट में जगह बनाने में कामयाब हो गए हैं।पिछले साल लोकसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश में पार्टी को एक बार फिर से खड़ा करने की जिम्मदारी मिली थी। उस वक्त कांग्रेस अध्यक्ष रहे राहुल गांधी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी ज्योतिरादित्य सिंधिया को दी थी जिन्होंने मध्यप्रदेश में नाराजगी के बाद बीजेपी ज्वाइन कर ली। लोकसभा चुनाव में तो पार्टी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पायी लेकिन अब विधानसभा चुनाव के लिए प्रियंका गांधी ने दो साल पहले से ही काम शुरू कर दिया है। जानकारी के मुताबिक प्रियंका गांधी ने हाल ही में उत्तर प्रदेश में पार्टी के संगठन में काफी बदलाव किए हैं। जमीनी पकड़ रखने वाले नेताओं को संगठन में खास तवज्जो दी गई है। जमीन के साथ साथ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी सोशल मीडिया पर भी काफी ज्यादा मुखर है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था हो या फिर कोरोना की स्थिति, प्रियंका गांधी लगातार योगी सरकार को निशाने पर लेती रही हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: