October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किशनगंज में सफाई प्रबंधन की खुली पोल

किशनगंज:- किशनगंज शहरी क्षेत्र में सफाई प्रबंधन का पोल खोलता नजारा। कोविड-19 संक्रमण काल में स्वच्छता को लेकर जिला प्रशासन द्वारा जहाँ जिला से प्रखंड स्तर तक लोगों को जागरूक किया जा रहा है वहीं दुसरी ओर किशनगंज नगर परिषद क्षेत्र में ऐसे कितने वार्ड हैं जहाँ कई दिनों तक खुले में सुखा कचरा या गीले कचरा डंप होकर सड़क पर पड़ा रहता है।नतीजा आवारा जानवरों द्वारा इसे और बिखरा दिया जाता है। और इसकी शिकायत नप के सफाई सुपरवाइजर या अन्य जिम्मेदार नौकरसाह करने के बावजूद भी इन पर कोई असर नही होता है। और यह जरूरी नही कि हर छोटी – छोटी बातों पर जिले के आलाधिकारी का ध्यानाकर्षण कराया जाय तभी संबंधित विभाग के अधिकारी हरकत में आएं। यह विभाग के काम करने के तौर तरीकों पर सवालिया निशान खड़ी करता है।

किशनगंज शहर के लोग आए दिन नगर परिषद की इस रवैये से परेशान हैं। शहर के वार्ड नम्बर 11 केला बागान भी इन दिनों नगर परिषद की उदाशीनता का शिकार है।सड़क पर बिखरा कचड़ा ,मरे हुए कुत्ते से निकलती दुर्गंध भयंकर बीमारी को निमंत्रण दे रहा है।आसपास के लोग परेशान हैं।पर सुधि लेनेवाला कोई नहीं।

ऐसा ही एक शिकायत वार्ड नंबर 18 के मुख्य मार्ग नियर काली मंदिर एवं राधाकृष्ण मंदिर के रास्ते पर जगह- जगह कुड़े का डंप खुले में पड़े रहने के बाद भी संबंधित विभाग को सफाई हेतु शिकायत पर कोई असर न होना जिले के लिए दुर्भाग्यपूर्ण ही कहा जा सकता है।डंप कुड़े पर आवारा पशुओं के मुंह मारना कुड़े को सड़कों पर बिखड़े- पड़े रहने के कारण कई अन्य प्रकार के बिमारी से भयाक्रांत होना भी स्वाभाविक ही है।जो इस कोरोना संक्रमण काल में संबंधित विभाग के सफाई प्रबंधन की पोल खोलता है।

संवाददाता सुबोध

Recent Posts

%d bloggers like this: