October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड में सामूहिक अवकाश पर जाएंगे 2500 सहायक पुलिसकर्मी

रघुवर सरकार के वादे को पूरा नहीं कर रही झामुमो की हेमंत सरकार

चाईबासा:- झारखंड में रघुवर सरकार के दौरान हुई सहायक पुलिसकर्मी और होमगार्ड की नियुक्ति के तीन साल पूरा होने पर पुलिस जवानों की तरह स्थायी करने और वेतन दिए जाने में वर्तमान सरकार आनाकानी कर रही है। जिससे सहायक पुलिसकर्मी आंदोलन की राह पर हैं। फिलहाल 4 से 6 सितंबर तक सहायक पुलिसकर्मी काला बिल्ला लगा कर ड्यूटी कर रहे हैं। 7 से 14 सितम्बर तक सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। फिर 16 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। राज्य के 12 जिलों के 2500 सहायक पुलिसकर्मी और पश्चिमी सिंहभूम जिले के 300 पुलिसकर्मी फिलहाल हड़ताल पर हैं। कमोवेश होमगार्ड जवानों की भी यही स्थिति है। इन्हें भी रघुवर सरकार सरकार में ही बहाला किया गया था। लेकिन वर्तमान सरकार में इन्हें ड्यूटी नहीं दी जा रही। इसलिए वेतन भी नहीं मिल रहा है। जिससे इनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। होमगार्ड भी सहायक पुलिसकर्मी की तरह ही विधायक, सांसद, मंत्री और अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं। होमगार्ड जवानों की स्थिति ऐसी है कि रोजगार मिलने के बावजूद वे बेरोजगार हैं। ऐसे में न तो वे होमगार्ड की नौकरी छोड़ पा रहे है और ना ही दूसरी नौकरी करने की स्थिति में हैं। सहायक पुलिस कर्मियों का कहना है कि अधिकांश पुलिसकर्मी जिले के सुदूरवर्ती और नक्सल क्षेत्रों से आते हैं। यदि सरकार उन्हें हटा देती हैं तो उनके लिए गांव में रहना मुश्किल हो जाएगा। बहाली के समय रघुवर सरकार ने जो वादा किया था उसे पूरा करने में हेमंत सरकार को क्या परेशानी हो रही है।

Recent Posts

%d bloggers like this: