October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लालू प्रसाद से मुलाकात करने वालों की मुश्किलें बढ़ी जेल आईजी के पत्र के बाद रिम्स निदेशक के बंगले के ईद-गिर्द बढ़ायी गयी सख्ती

रांची। चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव बीमार होने के बाद पिछले कई महीनों से राजेंद्र आयुर्विज्ञान चिकित्सा संस्थान, रिम्स में इलाजरत है। कोरोना संक्रमण काल में सुरक्षा के मुद्देनजर उन्हें रिम्स के पेइंग वार्ड से हटाकर खाली पड़े रिम्स के निदेशक बंगले में रखा गया है। जहां उनकी सुरक्षा में दो दर्जन से अधिक पुलिस कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। इस बीच बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आरजेडी के कई नेता अपनी बात लालू प्रसाद रखने की कोशिश में लगे है। बिहार आरजेडी के कई नेता रांची भी पहुंच रहे है, जिसके कारण रिम्स निदेशक के बंगले के बाहर खादी पहने कई नेता घूमते नजर आ रहे है। हालांकि प्रत्यक्ष तौर पर तो ये नेता लालू प्रसाद से किसी मुलाकात की कोशिश की बात से इनकार करते है, लेकिन यह बात मीडिया में सार्वजनिक हो रही है कि लालू प्रसाद के कुछ करीबियों के माध्यम से वे अपनी बात उन तक पहुंचाने में सफल हो जा रहे है, वहीं कुछ करीबी और कद्दावर नेता लालू प्रसाद से गुपचुप तरीके से मिलने में भी सफल हो जाते है। विरोधी दल बीजेपी की ओर से इसे जेल मैनुअल का खुलमखुल्ला उल्लंघन बताया गया है।
राज्य के कारा महानिरीक्षक वीरेंद्र भूषण की ओर से पिछले दिनों रांची के उपायुक्त छवि रंजन को एक पत्र लिखा गया है, जिसमें रिम्स में इलाजरत उच्च श्रेणी के सजायाफ्ता कैदी लालू प्रसाद यादव के द्वारा अवैध रूप से मुलाकात की खबरों को संज्ञान में लेते हुए आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया है। वहीं, लालू प्रसाद को फिर से जेल भेजने की मांग को लेकर उच्च न्यायालय में भी एक याचिका दायर की गयी है, जो अभी अदालत में विचाराधीन है।
इधर, जेल आईजी के पत्र के बाद रांची पुलिस-प्रशासन की ओर से रिम्स निदेशक के बंगले के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है और लालू प्रसाद से नियम विरूद्ध किसी की मुलाकात न हो, इस दिशा में सुरक्षा में तैनात पुलिस पदाधिकारियों और जवानों को आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: